हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए / Haal-e-Dil Kis Ko Sunaaen Aap Ke Hote Hue

हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए
क्यूँ किसी के दर पे जाएँ, आप के होते हुए

हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए

मैं ग़ुलाम-ए-मुस्तफ़ा हूँ, ये मेरी पहचान है
ग़म मुझे क्यूँ-कर सताएँ, आप के होते हुए

हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए

अपना जीना, अपना मरना अब इसी चौखट पे है
हम कहाँ, सरकार ! जाएँ, आप के होते हुए

हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए

कह रहा है आप का रब 'अन्त फ़ीहिम' आप से
क्यूँ इन्हें मैं दूँ सज़ाएँ, आप के होते हुए

हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए

सामने है, ए 'अली के लाल ! उस्वा आप का
क्यूँ किसी का ख़ौफ़ खाएँ, आप के होते हुए

हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए

मैं ये कैसे मान जाऊँ ! शाम के दरबार में
छीन ले कोई रिदाएँ, आप के होते हुए

हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए

ये तो हो सकता नहीं ! ये बात मुमकिन ही नहीं !
मेरे घर आलाम आएँ, आप के होते हुए

हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए

कौन है, अल्ताफ़ ! अपना हाल-ए-दिल जिस से कहें
ज़ख़्म-ए-दिल किस को दिखाएँ, आप के होते हुए


शायर:
सय्यिद अल्ताफ़ शाह काज़मी

नात-ख़्वाँ:
अहमद रज़ा क़ादरी





haal-e-dil kis ko sunaae.n, aap ke hote hue
kyu.n kisi ke dar pe jaae.n, aap ke hote hue

haal-e-dil kis ko sunaae.n, aap ke hote hue

mai.n Gulaam-e-mustafa hu.n, ye meri pahchaan hai
Gam mujhe kyu.n-kar sataae.n, aap ke hote hue

haal-e-dil kis ko sunaae.n, aap ke hote hue

apna jeena, apna marna ab isi chaukhaT pe hai
ham kahaa.n, sarkaar ! jaae.n, aap ke hote hue

haal-e-dil kis ko sunaae.n, aap ke hote hue

kah raha hai aap ka rab, 'ant feehim' aap se
kyu.n inhe.n mai.n du.n sajaae.n, aap ke hote hue

haal-e-dil kis ko sunaae.n, aap ke hote hue

saamne hai, ai 'ali ke laal ! uswa aap ka
kyu.n kisi ka KHauf khaae.n, aap ke hote hue

haal-e-dil kis ko sunaae.n, aap ke hote hue

mai.n ye kaise maan jaau.n ! shaam ke darbaar me.n
chheen le koi ridaae.n, aap ke hote hue

haal-e-dil kis ko sunaae.n, aap ke hote hue

ye to ho sakta nahi.n ! ye baat mumkin hi nahi.n !
mere ghar aalaam aae.n, aap ke hote hue

haal-e-dil kis ko sunaae.n, aap ke hote hue

kaun hai, Altaaf ! apna haal-e-dil jis se kahe.n
zaKHm-e-dil kis ko dikhaae.n, aap ke hote hue

haal-e-dil kis ko sunaae.n, aap ke hote hue


Poet:
Sayed Altaf Shah Kazmi

Naat-Khwaan:
Ahmad Raza Qadri
Haal e Dil Kisko Sunayen Lyrics, Haal e Dil Kisko Sunaaen Lyrics, Haal e Dil Kis Ko Sunaaye Lyrics, Haal e Dil Kis Ko Sunaae Lyrics, Haale Dil haal e dil kis ko sunain lyrics in hindi,hale dil kis ko sunain naat lyrics in hindi,naat lyrics in hindi,sunayen, aap ke hote huwe,aapke,haale dil, haal e dil, kisko sunaen, hale haale kisko sunaye sunayen sunaaye sunaayen sunaen sunaaen sunaae sunae sunaae ap ke hote huwe lyrics of naat, naat lyrics in hindi, islamic lyrics, hindi me naat lyrics, hindi me naat likhi hui, kyu kyun kyo kyon kisi ke kisike dar pe par jayen jaye jaen jae नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई, नात शरीफ की किताब हिंदी में, आला हजरत की नात शरीफ lyrics, हिंदी नात lyrics of naat, naat lyrics in hindi, islamic lyrics, hindi me naat lyrics, hindi me naat likhi hui, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई, नात शरीफ की किताब हिंदी में, आला हजरत की नात शरीफ lyrics, हिंदी नात, Lyrics in English, Lyrics in Roman

Comments

Post a Comment

Most Popular

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

इमदाद कुन इमदाद कुन या ग़ौस-ए-आज़म दस्तगीर / Imdad Kun Imdad Kun Ya Ghaus-e-Azam Dastagir | Imdad Kun Imdad Kun Ya Ghous-e-Azam Dastagir

सरकार-ए-ग़ौस-ए-आज़म नज़र-ए-करम ख़ुदारा / Sarkar-e-Ghaus-e-Azam Nazar-e-Karam Khudara

उन का मँगता हूँ जो मँगता नहीं होने देते / Un Ka Mangta Hun Jo Mangta Nahin Hone Dete

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

बे-ख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Be-Khud Kiye Dete Hain Andaaz-e-Hijabana

मीराँ वलियों के इमाम / Meeran Waliyon Ke Imam

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

क़ादरी आस्ताना सलामत रहे | मुस्तफ़ा का घराना सलामत रहे / Qadri Aastana Salamat Rahe | Qadri Astana Salamat Rahe | Mustafa Ka Gharana Salamat Rahe

फ़ासलों को ख़ुदारा मिटा दो | जालियों पर निगाहें जमी हैं / Faslon Ko Khudara Mita Do | Jaliyon Par Nigahen Jami Hain