वो नबी का प्यारा है जो सिद्दीक़ वाला है / Wo Nabi Ka Pyara Hai Jo Siddiq Wala Hai

नईं जाणदा ज़माना 'अज़मत सिद्दीक़ दी
पुछो रसूल-ए-पाक तों क़ीमत सिद्दीक़ दी

यार-ए-ग़ार-ओ-यार-ए-मज़ार
सिद्दीक़-ए-अकबर मेरा प्यार

वो नबी का प्यारा है जो सिद्दीक़ वाला है
वो नबी का प्यारा है जो सिद्दीक़ वाला है

अमीर-उल-मोमिनीं पहला, मेरा सिद्दीक़-ए-अकबर है
सहाबा में जो है आ'ला, मेरा सिद्दीक़-ए-अकबर है

यार-ए-ग़ार-ओ-यार-ए-मज़ार
सिद्दीक़-ए-अकबर मेरा प्यार
सिद्दीक़ वाला है

हमेशा ही से तक़्वा और सदाक़त का रहा पैकर
है सीरत जिस की पाक़ीज़ा, मेरा सिद्दीक़-ए-अकबर है

वो नबी का प्यारा है जो सिद्दीक़ वाला है

अमीर-उल-मोमिनीं पहला, मेरा सिद्दीक़-ए-अकबर है
सहाबा में जो है आ'ला, मेरा सिद्दीक़-ए-अकबर है

यार-ए-ग़ार-ओ-यार-ए-मज़ार
सिद्दीक़-ए-अकबर मेरा प्यार
सिद्दीक़ वाला है

मुहाफ़िज़ अव्वलीं ख़त्म-ए-नबुव्वत का वोही ठहरा
है जिस के माथे पे सेहरा, मेरा सिद्दीक़-ए-अकबर है

वो नबी का प्यारा है जो सिद्दीक़ वाला है

सहाबी पहला, सिद्दीक़
ख़लीफ़ा पहला, सिद्दीक़
नबी का प्यारा, सिद्दीक़
'अली का प्यारा, सिद्दीक़

हयात-ए-ज़ाहिरी में ही इमाम इस को बनाया है
नबी का मुंतख़िब-कर्दा मेरा सिद्दीक़-ए-अकबर है

वो नबी का प्यारा है जो सिद्दीक़ वाला है

पैग़ाम नबी ये देते हैं, सिद्दीक़-ए-अकबर मेरे हैं
जो हक़ पर हैं वो कहते हैं, सिद्दीक़-ए-अकबर मेरे हैं

ग़ज़वात में जान हथेली पर रख कर आ'दा से लड़ते हैं
सरकार का पहरा देते हैं, सिद्दीक़-ए-अकबर मेरे हैं

घर-बार लुटा कर कहते हैं, अल्लाह-ओ-नबी काफ़ी हैं
क्या बात उजागर कहते हैं, सिद्दीक़-ए-अकबर मेरे हैं

नबी की लाडली ज़ौजा जनाब-ए-आइशा ठहरीं
हाँ ! बाबा ऐसी दुख़्तर का, मेरा सिद्दीक़-ए-अकबर है

वो नबी का प्यारा है जो सिद्दीक़ वाला है

यार-ए-ग़ार-ओ-यार-ए-मज़ार
सिद्दीक़-ए-अकबर मेरा प्यार
सिद्दीक़ वाला है

क़यामत में जो मद'ऊ होगा हर इक बाब-ए-जन्नत से
सुनो ये मर्तबा किस का, मेरा सिद्दीक़-ए-अकबर है

वो नबी का प्यारा है जो सिद्दीक़ वाला है

अमीर-उल-मोमिनीं पहला, मेरा सिद्दीक़-ए-अकबर है
सहाबा में जो है आ'ला, मेरा सिद्दीक़-ए-अकबर

यार-ए-ग़ार-ओ-यार-ए-मज़ार
सिद्दीक़-ए-अकबर मेरा प्यार
सिद्दीक़ वाला है

बयाँ क्या-क्या करे, हस्सान ! शान-ओ-मर्तबा उस का
कि बा'द-ए-अंबिया आ'ला, मेरा सिद्दीक़-ए-अकबर

वो नबी का प्यारा है जो सिद्दीक़ वाला है

यार-ए-ग़ार-ओ-यार-ए-मज़ार
सिद्दीक़-ए-अकबर मेरा प्यार
सिद्दीक़ वाला है

सब कुझ निसार कीता, छडी सूई वी नईं
इस्लाम नूँ जदों पईं ज़रुरत सिद्दीक़ दी

सहाबी पहला, सिद्दीक़
ख़लीफ़ा पहला, सिद्दीक़
नबी का प्यारा, सिद्दीक़
'अली का प्यारा, सिद्दीक़

वो नबी का प्यारा है जो सिद्दीक़ वाला है


पहला ख़लीफ़ा सिद्दीक़
सब का दुलारा सिद्दीक़

या सिद्दीक़ ! या सिद्दीक़ !
या सिद्दीक़ ! या सिद्दीक़ !


शायर:
अब्दुल्लाह हस्सान

ना'त-ख़्वाँ:
हाफ़िज़ ताहिर क़ादरी
हाफ़िज़ अहसन क़ादरी





nai.n jaaNda zamaana 'azmat siddiq di
puchho rasool-e-paak to.n qeemat siddiq di

yaar-e-Gaar-o-yaar-e-mazaar
siddiq-e-akbar mera pyaar

wo nabi ka pyaara hai jo siddiq waala hai
wo nabi ka pyaara hai jo siddiq waala hai

ameer-ul-mominee.n pehla, mera siddiq-e-akbar hai
sahaaba me.n jo hai aa'la, mera siddiq-e-akbar hai

yaar-e-Gaar-o-yaar-e-mazaar
siddiq-e-akbar mera pyaar
siddiq waala hai

hamesha hi se taqwa aur sadaaqat ka raha paikar
hai seerat jis ki paaqeeza, mera siddiq-e-akbar hai

wo nabi ka pyaara hai jo siddiq waala hai

ameer-ul-mominee.n pehla, mera siddiq-e-akbar hai
sahaaba me.n jo hai aa'la, mera siddiq-e-akbar hai

yaar-e-Gaar-o-yaar-e-mazaar
siddiq-e-akbar mera pyaar
siddiq waala hai

muhaafiz awwali.n KHatm-e-nabuwwat ka wohi Thehra
hai jis ke maathe pe sehra, mera siddiq-e-akbar hai

wo nabi ka pyaara hai jo siddiq waala hai

sahaabi pehla, siddiq
KHalifa pehla, siddiq
nabi ka pyaara, siddiq
'ali ka pyaara, siddiq

hayaat-e-zaahiri me.n hi imaam is ko banaaya hai
nabi ka muntKHib-karda mera siddiq-e-akbar hai

wo nabi ka pyaara hai jo siddiq waala hai

paiGaam nabi ye dete hai.n, siddiq-e-akbar mere hai.n
jo haq par hai.n wo kehte hai.n, siddiq-e-akbar mere hai.n

Gazwaat me.n jaan hatheli par rakh kar aa'da se la.Dte hai.n
sarkaar ka pehra dete hai.n, siddiq-e-akbar mere hai.n

ghar-baar luTa kar kehte hai.n, allah-o-nabi kaafi hai.n
kya baat Ujaagar kehte hai.n, siddiq-e-akbar mere hai.n

nabi ki laaDli zauja janaab-e-aaisha Thehri.n
haa.n ! baaba aisi duKHtar ka, mera siddiq-e-akbar hai

wo nabi ka pyaara hai jo siddiq waala hai

yaar-e-Gaar-o-yaar-e-mazaar
siddiq-e-akbar mera pyaar
siddiq waala hai

qayaamat me.n jo mad'oo hoga har ik baab-e-jannat se
suno ye martaba kis ka, mera siddiq-e-akbar hai

wo nabi ka pyaara hai jo siddiq waala hai

ameer-ul-mominee.n pehla, mera siddiq-e-akbar hai
sahaaba me.n jo hai aa'la, mera siddiq-e-akbar hai

yaar-e-Gaar-o-yaar-e-mazaar
siddiq-e-akbar mera pyaar
siddiq waala hai

bayaa.n kya-kya kar, Hassaan ! shaan-o-martaba us ka
ki baa'd-e-ambiya aa'la, mera siddiq-e-akbar hai

wo nabi ka pyaara hai jo siddiq waala hai

yaar-e-Gaar-o-yaar-e-mazaar
siddiq-e-akbar mera pyaar
siddiq waala hai

sab kujh nisaar keeta, chhaDi sui wi nai.n
islam nu.n jado.n pai.n zaroorat siddiq di

sahaabi pehla, siddiq
KHalifa pehla, siddiq
nabi ka pyaara, siddiq
'ali ka pyaara, siddiq

wo nabi ka pyaara hai jo siddiq waala hai

pehla KHalifa siddiq
sab ka dulaara siddiq

ya siddiq ! ya siddiq !
ya siddiq ! ya siddiq !


Poet:
Abdullah Hassan

Naat-Khwaan:
Hafiz Tahir Qadri
Hafiz Ahsan Qadri
Jo Siddiq Wala Hai Lyrics | Jo Siddiq Wala He Lyrics | Wo Nabi Ka Pyara Hai Jo Siddiq Wala Hai Lyrics in Hindi | Siddiq e Akbar Mera Pyar Lyrics Hindi | Yaar e Gaar o Yaar e Mazar Lyrics | Ameerul Mominin Pehla Mera Siddiq e Akbar Hai Lyrics | Manqabat e Siddiq e Akbar Lyrics | Hafiz Tahir Qadri naat Lyrics | siddique siddiq hay hei hain hein lyrics of naat, naat lyrics in hindi, islamic lyrics, hindi me naat lyrics, hindi me naat likhi hui, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई, नात शरीफ की किताब हिंदी में, आला हजरत की नात शरीफ lyrics, हिंदी नात, Lyrics in English, Lyrics in Roman

Comments

Most Popular

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

मैं बंदा-ए-'आसी हूँ, ख़ता-कार हूँ, मौला ! / Main Banda-e-Aasi Hoon, Khata-Kaar Hoon, Maula !

तेरा नाम ख़्वाजा मुईनुद्दीन | तू रसूल-ए-पाक की आल है / Tera Naam Khwaja Moinuddin | Tu Rasool-e-Pak Ki Aal Hai

बे-ख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Be-Khud Kiye Dete Hain Andaaz-e-Hijabana

उन का मँगता हूँ जो मँगता नहीं होने देते / Un Ka Mangta Hun Jo Mangta Nahin Hone Dete

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए / Haal-e-Dil Kis Ko Sunaaen Aap Ke Hote Hue

मौला अली मौला ! मौला अली मौला ! / Maula Ali Maula ! Maula Ali Maula !

छूटे न कभी तेरा दामन या ख़्वाजा मुईनुद्दीन हसन / Chhoote Na Kabhi Tera Daman Ya Khwaja Muinuddin Hasan