छोड़ फ़िक्र दुनिया की, चल मदीने चलते हैं / Chhod Fikr Duniya Ki, Chal Madine Chalte Hain

छोड़ फ़िक्र दुनिया की, चल मदीने चलते हैं
मुस्तफ़ा ग़ुलामों की क़िस्मतें बदलते हैं

छोड़ फ़िक्र दुनिया की

रहमतों के बादल के साए साथ चलते हैं
मुस्तफ़ा के दीवानें घर से जब निकलते हैं

छोड़ फ़िक्र दुनिया की

हम को रोज़ मिलता है सदक़ा प्यारे आक़ा का
उन के दर के टुकड़ों पर ख़ुश-नसीब पलते है

छोड़ फ़िक्र दुनिया की

आमिना के प्यारे का, सब्ज़-गुंबद वाले का
जश्न हम मनाते हैं, जलने वाले जलते हैं

छोड़ फ़िक्र दुनिया की

सिर्फ़ सारी दुनिया में वो तयबा की गलियाँ हैं
जिस जगह पे हम जैसे खोटे सिक्के चलते हैं

छोड़ फ़िक्र दुनिया की

सच है ग़ैर का एहसाँ वो कभी नहीं लेते
'अलीम ! आक़ा के जो टुकड़ों पे पलते हैं


ना'त-ख़्वाँ:
ओवैस रज़ा क़ादरी
असद रज़ा अत्तारी
संदली अहमद





chho.D fikr duniya ki, chal madine chalte hai.n
mustafa Gulaamo.n ki qismate.n badalte hai.n

chho.D fikr duniya ki

rahmato.n ke baadal ke saae saath chalte hai.n
mustafa ke deewaane.n ghar se jab nikalte hai.n

chho.D fikr duniya ki

ham ko roz milta hai sadqa pyaare aaqa ka
un ke dar ke Tuk.Do.n par KHush-naseeb palte hai.n

chho.D fikr duniya ki

aamina ke pyaare ka, sabz-gumbad waale ka
jashn ham manaate hai.n, jalne waale jalte hai.n

chho.D fikr duniya ki

sirf saari duniya me.n wo tayba ki galiyaa.n hai.n
jis jagah pe ham jaise khoTe sikke chalte hai.n

chho.D fikr duniya ki

sach hai Gair ka ehsaa.n wo kabhi nahi.n lete
ai 'Aleem ! aaqa ke jo tuk.Do.n pe palte hai.n


Naat-Khwaan:
Owais Raza Qadri
Asad Raza Attari
Sandali Ahmad
Chor Fikr Duniya Ki Chal Madine Chalte Hain Lyrics, Chor Fikr Duniya Ki Lyrics in Hindi, Chhod Fikr Duniya Ki Lyrics, Chalo Chalo Madeene Chalo Lyrics chhor fikar chalate he hein hei madine chalo lyrics of naat, naat lyrics in hindi, islamic lyrics, hindi me naat lyrics, hindi me naat likhi hui, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई, नात शरीफ की किताब हिंदी में, आला हजरत की नात शरीफ lyrics, हिंदी नात, Lyrics in English, Lyrics in Roman

Comments

Post a Comment

Most Popular

क्या बताऊँ कि क्या मदीना है / Kya Bataun Ki Kya Madina Hai

वो शहर-ए-मोहब्बत जहाँ मुस्तफ़ा हैं / Wo Shehr-e-Mohabbat Jahan Mustafa Hain (All Versions)

ऐ ज़हरा के बाबा सुनें इल्तिजा मदीना बुला लीजिए / Aye Zahra Ke Baba Sunen Iltija Madina Bula Lijiye

बेख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Bekhud Kiye Dete Hain Andaz-e-Hijabana

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

कोई दुनिया-ए-अता में नहीं हमता तेरा | तज़मीन - वाह ! क्या जूद-ओ-करम है, शह-ए-बतहा ! तेरा / Koi Duniya-e-Ata Mein Nahin Hamta Tera | Tazmeen of Waah ! Kya Jood-o-Karam Hai, Shah-e-Bat.ha ! Tera

बुला लो फिर मुझे ऐ शाह-ए-बहर-ओ-बर मदीने में / Bula Lo Phir Mujhe Aye Shah-e-Bahr-o-Bar Madine Mein

ऐ सबा मुस्तफ़ा से कह देना ग़म के मारे सलाम कहते हैं / Aye Saba Mustafa Se Keh Dena Gham Ke Mare Salam Kehte Hain (All Versions)