सुल्तान बरेली के | हर सुन्नी के प्यारे हैं सुल्तान बरेली के / Sultan Bareilly Ke | Har Sunni Ke Pyare Hain Sultan Bareilly Ke

रज़ा रज़ा ! मेरे रज़ा ! रज़ा रज़ा ! मेरे रज़ा !
रज़ा रज़ा ! मेरे रज़ा ! रज़ा रज़ा ! मेरे रज़ा !

हर सुन्नी के प्यारे हैं सुल्तान बरेली के
हर आँख के तारे हैं सुल्तान बरेली के

गुस्ताख़ ! ज़रा सुन ले, तुझ को ही मिटाने को
इक बर्क़ से धारे हैं सुल्तान बरेली के

सुन्नियों का पेशवा ! रज़ा रज़ा, रज़ा रज़ा !
'आशिक़ों का रहनुमा ! रज़ा रज़ा, रज़ा रज़ा !
ख़ाइफ़-ए-किब्रिया ! रज़ा रज़ा, रज़ा रज़ा !
बा-कमाल-ओ-बा-हया ! रज़ा रज़ा, रज़ा रज़ा !

चालों में कभी भी न आ पाएँगे हम क्यूँ कि
सुन्नी के सहारे हैं सुल्तान बरेली के

हर सुन्नी के प्यारे हैं सुल्तान बरेली के
हर आँख के तारे हैं सुल्तान बरेली के

पढ़ पढ़ के दुरूदों को, पढ़ पढ़ के सलामों को
हर लम्हा गुज़ारे हैं सुल्तान बरेली के

सुन्नियों का पेशवा ! रज़ा रज़ा, रज़ा रज़ा !
'आशिक़ों का रहनुमा ! रज़ा रज़ा, रज़ा रज़ा !
ख़ाइफ़-ए-किब्रिया ! रज़ा रज़ा, रज़ा रज़ा !
बा-कमाल-ओ-बा-हया ! रज़ा रज़ा, रज़ा रज़ा !

अब तक न समझ आया, इन 'अक़्ल के अंधों को
रहमत के फवारे हैं सुल्तान बरेली के

हर सुन्नी के प्यारे हैं सुल्तान बरेली के
हर आँख के तारे हैं सुल्तान बरेली के

यूँ ही लक़ब न आ'ला हज़रत हुआ है इन का
'उल्मा के दुलारे हैं सुल्तान बरेली के

सुन्नियों का पेशवा ! रज़ा रज़ा, रज़ा रज़ा !
'आशिक़ों का रहनुमा ! रज़ा रज़ा, रज़ा रज़ा !
ख़ाइफ़-ए-किब्रिया ! रज़ा रज़ा, रज़ा रज़ा !
बा-कमाल-ओ-बा-हया ! रज़ा रज़ा, रज़ा रज़ा !

बेख़ुद ने कहा सब से, किस किस के रज़ा ख़ाँ हैं?
सब बोले हमारे हैं सुल्तान बरेली के

हर सुन्नी के प्यारे हैं सुल्तान बरेली के
हर आँख के तारे हैं सुल्तान बरेली के

सुल्तान बरेली के, सुल्तान बरेली के
सुल्तान बरेली के, सुल्तान बरेली के


शायर:
वसीम बेख़ुद माण्डलवी

ना'त-ख्वाँ:
ग़ुलाम मुस्तफ़ा क़ादरी





raza raza ! mere raza !
raza raza ! mere raza !

har sunni ke pyaare hai.n sultaan bareli ke
har aankh ke taare hai.n sultaan bareli ke

gustaaKH ! zara sun le tujh ko hi miTaane ko
ik barq se dhaare hai.n sultaan bareli ke

sunniyo.n ka peshwa ! raza raza, raza raza !
'aashiqo.n ka rahnuma ! raza raza, raza raza !
KHaaif-e-qibriya ! raza raza, raza raza !
ba-kamaal-o-ba-haya ! raza raza, raza raza !

chaalo.n me.n kabhi na aa paaenge ham kyu.n ki
sunni ke sahaare hai.n sultaan bareli ke

har sunni ke pyaare hai.n sultaan bareli ke
har aankh ke taare hai.n sultaan bareli ke

pa.Dh pa.Dh ke duroodo.n ko pa.Dh pa.Dh ke salaamo.n ko
har lamha guzaare hai.n sultaan bareli ke

sunniyo.n ka peshwa ! raza raza, raza raza !
'aashiqo.n ka rahnuma ! raza raza, raza raza !
KHaaif-e-qibriya ! raza raza, raza raza !
ba-kamaal-o-ba-haya ! raza raza, raza raza !

ab tak na samajh aaya in 'aql ke andho.n ko
rahmat ke phawaare hai.n sultaan bareli ke

har sunni ke pyaare hai.n sultaan bareli ke
har aankh ke taare hai.n sultaan bareli ke

yu.n hi laqab na aa'la hazrat huaa hai in ka
'ulma ke dulaare hai.n sultaan bareli ke

sunniyo.n ka peshwa ! raza raza, raza raza !
'aashiqo.n ka rahnuma ! raza raza, raza raza !
KHaaif-e-qibriya ! raza raza, raza raza !
ba-kamaal-o-ba-haya ! raza raza, raza raza !

BeKHud ne kaha sab se kis kis ke raza KHaa.n hai.n?
sab bole hamaare hai.n sultaan bareli ke

har sunni ke pyaare hai.n sultaan bareli ke
har aankh ke taare hai.n sultaan bareli ke

sultaan bareli ke, sultaan bareli ke
sultaan bareli ke, sultaan bareli ke


Poet:
Waseem Bekhud Mandalvi

Naat-Khwaan:
Ghulam Mustafa Qadri
Sultan Bareilly Ke Lyrics, Sultan Bareilly Ke Lyrics in Hindi, Sultan Bareli Ke Lyrics, Har Sunni Ke Pyare Hain Sultan Baraily Ke Lyrics in Hindi sultaan bareily baraili bareili ky key kay pyaare hai hay hei hein lyrics of naat, naat lyrics in hindi, islamic lyrics, hindi me naat lyrics, hindi me naat likhi hui, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई, नात शरीफ की किताब हिंदी में, आला हजरत की नात शरीफ lyrics, हिंदी नात, Lyrics in English, Lyrics in Roman

Comments

लोकप्रिय कलाम

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

मेरी उल्फ़त मदीने से यूँ ही नहीं मेरे आक़ा का रौज़ा मदीने में है / Meri Ulfat Madine Se Yun Hi Nahin Mere Aaqa Ka Rauza Madine Mein Hai

जश्न-ए-आमद-ए-रसूल, अल्लाह ही अल्लाह ! / Jashn-e-Aamad-e-Rasool, Allah Hi Allah !

हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए / Haal-e-Dil Kis Ko Sunaaen Aap Ke Hote Hue

अब तो बस एक ही धुन है के मदीना देखूं / Ab To Bas Ek Hi Dhun Hai Ke Madina Dekhun

बे-ख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Be-Khud Kiye Dete Hain Andaaz-e-Hijabana

गली गली सज गई शहर शहर सज गया | जो आमिना के लाल का मीलाद करेंगे / Gali Gali Saj Gai Shahar Shahar Saj Gaya | Jo Amina Ke Laal Ka Milad Karenge

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

उन का मँगता हूँ जो मँगता नहीं होने देते / Un Ka Mangta Hun Jo Mangta Nahin Hone Dete

नूर वाला आया है / Noor Wala Aaya Hai