क़ुरआन का एलान है ता-हश्र चलेगा | इस्लाम रहेगा / Quran Ka Elaan Hai Ta-Hashr Chalega | Islam Rahega

क़ुरआन का ए'लान है, ता-हश्र चलेगा

इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा
इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा

आएगा मिटाने जो वो ख़ुद ही मिटेगा

इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा
इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा

इस्लाम रहेगा, मेरा इस्लाम रहेगा
इस्लाम रहेगा, मेरा इस्लाम रहेगा

ऐ मालिक-ओ-मौला ! तेरे फ़रमान की ख़ातिर
हर दौर में लड़ जाएँगे ईमान की ख़ातिर
पीछे न हटेंगे कभी क़ुरआन की ख़ातिर
हर दौर में सिक्का भी हमारा ही चलेगा

इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा
इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा

सिद्दीक़ ने इस के लिए हर ज़ुल्म सहा है
फ़ारूक़ ने इस के लिए फ़ाक़ा भी किया है
'उस्मान का इस दीं के लिए ख़ून बहा है
फिर कैसे ज़माना इसे बर्बाद करेगा

इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा
इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा

क्या भूल गए हैं ये मेरे दीन के दुश्मन
ज़िंदा नहीं बच पाएँगे आईन के दुश्मन
दुनिया से फ़ना होंगे फ़िलिस्तीन के दुश्मन
फ़रमान-ए-मुहम्मद है, टला है न टलेगा

इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा
इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा

हैदर का घराना है जो अनमोल हुआ है
तलवार से बच्चा भी जहाँ खेल रहा है
हाथों में 'अलम ले के 'अलम-दार चला है
फिर कैसे यज़ीदों का यहाँ ज़ोर चलेगा

इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा
इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा

महदी को अभी आना है इंसाफ़ दिलाने
ईसा को अभी आना है दज्जाल मिटाने
ऊँचे अभी हो जाएँगे इस्लाम के शाने
फिर से कोई शब्बीर मदीने से उठेगा

इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा
इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा

इस क़ौम को हर क़ौम मिटाने में लगी है
तयबा की तरफ़ इस की नज़र देख रही है
लिल्लाह करम कीजिए, मुश्किल की घड़ी है
फिर से कोई शब्बीर मदीने से उठेगा

इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा
इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा

ऐ मोमिनो ! ईमान को फ़ौलाद बना लो
इस्लाम के साँचे में ज़रा ख़ुद को तो ढालो
और सुन्नत-ए-सरकार से किरदार सजा लो
फिर दुश्मन-ए-इस्लाम को कहना ही पड़ेगा

इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा
इस्लाम रहेगा, इस्लाम रहेगा


ना'त-ख़्वाँ:
ग़ुलाम नूर-ए-मुजस्सम





qur.aan ka e'laan hai, taa-hashr chalega

islam rahega, islam rahega
islam rahega, islam rahega

aaega miTaane jo wo KHud hi miTega

islam rahega, islam rahega
islam rahega, islam rahega

islam rahega, mera islam rahega
islam rahega, mera islam rahega

ai maalik-o-maula ! tere farmaan ki KHaatir
har daur me.n la.D jaaenge imaan ki KHaatir
peechhe na haTenge kabhi qur.aan ki KHaatir
har daur me.n sikka bhi hamaara hi chalega

islam rahega, mera islam rahega
islam rahega, mera islam rahega

siddiq ne is ke liye har zulm saha hai
farooq ne is ke liye faaqa bhi kiya hai
'usman ka is dee.n ke liye KHoon baha hai
phir kaise zamaana ise barbaad karega

islam rahega, mera islam rahega
islam rahega, mera islam rahega

kya bhool gae hai.n ye mere deen ke dushman
zinda nahi.n bach paaenge aa.een ke dushman
duniya se fana honge palestine ke dushman
farmaan-e-muhammad hai, Tala hai na Talega

islam rahega, mera islam rahega
islam rahega, mera islam rahega

haidar ka gharaana hai jo anmol huaa hai
talwaar se bachcha bhi yahaa.n khel raha hai
haatho.n me.n 'alam le ke 'alam-daar chala hai
phir kaise yazeedo.n ka yahaa.n zor chalega

islam rahega, mera islam rahega
islam rahega, mera islam rahega

mahdi ko abhi aana hai insaaf dilaane
isa ko abhi aana hai dajjaal miTaane
unche abhi ho jaaenge islam ke shaane
phir se koi shabbir madine se uThega

islam rahega, mera islam rahega
islam rahega, mera islam rahega

is qaum ko har qaum miTaane me.n lagi hai
tayba ki taraf is ki nazar dekh rahi hai
lillah karam kijiye, mushkil ki gha.Di hai
phir se koi shabbir madine se uThega

islam rahega, mera islam rahega
islam rahega, mera islam rahega

ai momino ! imaan ko phaulaad bana lo
islam ke saanche me.n zara KHud ko to Dhaalo
aur sunnat-e-sarkaar se kirdaar saja lo
phir dushman-e-islam ko kehna hi pa.Dega

islam rahega, mera islam rahega
islam rahega, mera islam rahega


Naat-Khwaan:
Gulam Noor-e-Mujassam
Islam Rahega Lyrics | Islam Rahega Naat Lyrics in Hindi | Islam Rahega Naat Lyrics Gulam Noore Mujasam | Aye Malik o Maula Tere Farman Ki Khatir Lyrics | Quraan Elan Hai Hei Ta Hashr | lyrics of naat | naat lyrics in hindi | islamic lyrics | hindi me naat lyrics | hindi me naat likhi hui | All Naat Lyrics in Hindi | नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई | नात शरीफ की किताब हिंदी में | आला हजरत की नात शरीफ lyrics | हिंदी नात | Lyrics in English | Lyrics in Roman 50+ Naat Lyrics | Best Place To Find All Naat Sharif | 500+ Naat Lyrics | Best Site To Find All Naat in Hindi, English | 430 Naat lyrics ideas in 2023

Comments

Most Popular

क्या बताऊँ कि क्या मदीना है / Kya Bataun Ki Kya Madina Hai

वो शहर-ए-मोहब्बत जहाँ मुस्तफ़ा हैं / Wo Shehr-e-Mohabbat Jahan Mustafa Hain (All Versions)

ऐ ज़हरा के बाबा सुनें इल्तिजा मदीना बुला लीजिए / Aye Zahra Ke Baba Sunen Iltija Madina Bula Lijiye

बेख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Bekhud Kiye Dete Hain Andaz-e-Hijabana

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

कोई दुनिया-ए-अता में नहीं हमता तेरा | तज़मीन - वाह ! क्या जूद-ओ-करम है, शह-ए-बतहा ! तेरा / Koi Duniya-e-Ata Mein Nahin Hamta Tera | Tazmeen of Waah ! Kya Jood-o-Karam Hai, Shah-e-Bat.ha ! Tera

ज़िंदगी ये नहीं है किसी के लिए | वल्लाह वल्लाह / Zindagi Ye Nahin Hai Kisi Ke Liye | Wallah Wallah

जहाँ-बानी अता कर दें भरी जन्नत हिबा कर दें | मुनव्वर मेरी आँखों को मेरे शम्सुद्दुहा कर दें / Jahan-bani Ata Kar Den Bhari Jannat Hiba Kar Den | Muanawwar Meri Aankhon Ko Mere Shamsudduha Kar Den