बे-तलब भीक यहाँ मिलती है आते जाते | ये वो दर है कि जहाँ दिल नहीं तोड़े जाते / Betalab Bheek Yahan Milti Hai Aate Jate | Ye Wo Dar Hai Jahan Dil Nahin Tode Jate

बे-तलब भीक यहाँ मिलती है आते जाते
ये वो दर है कि जहाँ दिल नहीं तोड़े जाते

ये है आक़ा की 'इनायत, वो करम करते हैं
वर्ना हम जैसे कहाँ दर पे बुलाए जाते

वो मेरे दिल के धड़कने की सदा सुनते हैं
इस लिए लफ़्ज़ ज़ुबाँ पर नहीं लाए जाते

उन की दहलीज़ के मँगते हैं, बड़ी मौज में हैं
हम से अग़्यार के टुकड़े नहीं खाए जाते

ये तो सरकार की रहमत ने हमें थाम लिया
वर्ना दर दर पे यूँही ठोकरे खाए जाते

वो निक़ाब-ए-रुख़-ए-रौशन जो उठाते जाते
मेरी बिगड़ी हुई तक़दीर बनाते जाते

काश ! अपना भी मदीने में कोई घर होता
देखते रौज़ा-ए-सरकार को आते जाते

शहर-ए-सरकार की हम ख़ाक के ज़र्रे होते
आप की राह में बिखरे हुए पाए जाते

अपना मदफ़न भी मुक़द्दर से जो बन जाता बक़ी'
हश्र में आप के क़दमों से उठाए जाते

क़ाफ़िले वालो ! ज़रा ठहरो, मैं आता हूँ अभी
एक और ना'त सुना लूँ उन्हें जाते जाते

शम्मा'-ए-दीन न इस शान से रौशन होती
ख़ून-ए-असग़र से न गर दीप जलाए जाते

हम कहाँ होते, कहाँ होती ये महफ़िल, अल्ताफ़ !
ख़ाक-ए-कर्बल पे अगर सर न कटाए जाते


शायर:
सय्यिद अल्ताफ़ शाह काज़मी

ना'त-ख़्वाँ:
सय्यिद अल्ताफ़ शाह काज़मी
ख़ालिद हसनैन ख़ालिद
सय्यिद अब्दुल वसी क़ादरी





be-talab bheek yahaa.n milti hai aate jaate
ye wo dar hai jahaa.n dil nahi.n to.De jaate

ye hai aaqa ki 'inaayat, wo karam karte hai.n
warna ham jaise kahaa.n dar pe bulaae jaate

wo mere dil ke dha.Dakne ki sada sunte hai.n
is liye lafz zubaa.n par nahi.n laae jaate

un ki dehleez ke mangte hai.n, ba.Di mauj me.n hai.n
ham se aGyaar ke tuk.De nahi.n khaae jaate

ye to sarkaar ki rahmat ne hame.n thaam liya
warna dar dar pe yunhi Thokre khaae jaate

wo niqaab-e-ruKH-e-raushan jo uThaate jaate
meri big.Di hui taqdeer banaate jaate

kaash ! apna bhi madine me.n koi ghar hota
dekhte rauza-e-sarkaar ko aate jaate

shehr-e-sarkaar ki ham KHaak ke zarre hote
aap ki raah me.n bikhre hue paae jaate

apna madfan bhi muqaddar se jo ban jaata baqi'
hashr me.n aap ke qadmo.n se uThaae jaate

qaafile waalo ! zara Thehro, mai.n aata hu.n abhi
ek aur naa't suna lu.n unhe.n jaate jaate

shamma'-e-deen na is shaan se raushan hoti
KHoon-e-asGar se na gar deep jalaae jaate

ham kahaa.n hote, kahaa.n hoti ye mehfil, Altaf !
KHaak-e-karbal pe agar sar na kaTaae jaate


Poet:
Syed Altaf Shah Kazmi

Naat-Khwaan:
Syed Altaf Shah Kazmi
Khalid Hasnain Khalid
Sayyed Abdul Wasi Qadri
Be talab Bheek Yahan Milti Hai Aate Jate Lyrics in Hindi | Ye Wo Dar Hai Jahan Dil Nahi Tode Jate Lyrics in Hindi | Betalab Bheek Jahan Milti Hai Aate Jaate | bey yeh woh tore jaate | lyrics of naat | naat lyrics in hindi | islamic lyrics | hindi me naat lyrics | hindi me naat likhi hui | All Naat Lyrics in Hindi | नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई | नात शरीफ की किताब हिंदी में | आला हजरत की नात शरीफ lyrics | हिंदी नात | Lyrics in English | Lyrics in Roman 50+ Naat Lyrics | Best Place To Find All Naat Sharif | 500+ Naat Lyrics | Best Site To Find All Naat in Hindi, English | 430 Naat lyrics ideas in 2024

Comments

Most Popular

क्या बताऊँ कि क्या मदीना है / Kya Bataun Ki Kya Madina Hai

वो शहर-ए-मोहब्बत जहाँ मुस्तफ़ा हैं / Wo Shehr-e-Mohabbat Jahan Mustafa Hain (All Versions)

ऐ ज़हरा के बाबा सुनें इल्तिजा मदीना बुला लीजिए / Aye Zahra Ke Baba Sunen Iltija Madina Bula Lijiye

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

बेख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Bekhud Kiye Dete Hain Andaz-e-Hijabana

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

कोई दुनिया-ए-अता में नहीं हमता तेरा | तज़मीन - वाह ! क्या जूद-ओ-करम है, शह-ए-बतहा ! तेरा / Koi Duniya-e-Ata Mein Nahin Hamta Tera | Tazmeen of Waah ! Kya Jood-o-Karam Hai, Shah-e-Bat.ha ! Tera

बुला लो फिर मुझे ऐ शाह-ए-बहर-ओ-बर मदीने में / Bula Lo Phir Mujhe Aye Shah-e-Bahr-o-Bar Madine Mein

ऐ सबा मुस्तफ़ा से कह देना ग़म के मारे सलाम कहते हैं / Aye Saba Mustafa Se Keh Dena Gham Ke Mare Salam Kehte Hain (All Versions)