ख़ल्क़ पे लुत्फ़-ए-ख़ुदा हज़रत-ए-उस्मान हैं / Khalq Pe Lutf-e-Khuda Hazrat-e-Usman Hain

ख़ल्क़ पे लुत्फ़-ए-ख़ुदा हज़रत-ए-'उस्मान हैं
जुमला मरज़ की दवा, दर्द के दरमान हैं

ख़ल्क़ पे लुत्फ़-ए-ख़ुदा हज़रत-ए-'उस्मान हैं

नूर-ए-दिल-ओ-'ऐन हैं, साहिब-ए-नूरैन हैं
सब के दिल के चैन हैं, मोमिनों की जान हैं

ख़ल्क़ पे लुत्फ़-ए-ख़ुदा हज़रत-ए-'उस्मान हैं

दस्त-ए-शह-ए-दो-सरा जो कि यदुल्लाह था
हाथ बना आप का, आप वो ज़ीशान हैं

ख़ल्क़ पे लुत्फ़-ए-ख़ुदा हज़रत-ए-'उस्मान हैं

आप ममदूह-ए-जहाँ ख़ल्क़-ए-ख़ुदा मदह-ख़्वाँ
क्या है अगर बदगुमाँ चंद बे-ईमान हैं

ख़ल्क़ पे लुत्फ़-ए-ख़ुदा हज़रत-ए-'उस्मान हैं

गुलशन-ए-दीं की बहार, मोमिनो के ताजदार
'इज़्ज़त-ए-हर-ज़ी-वक़ार, ज़ीनत-ए-ईमान हैं

ख़ल्क़ पे लुत्फ़-ए-ख़ुदा हज़रत-ए-'उस्मान हैं

हक़ ने वो रुत्बा दिया, तुम ग़नी हम सब गदा
क्या कहूँ मैं तुम हो क्या, 'अक़्ल-ओ-दिल हैरान हैं

ख़ल्क़ पे लुत्फ़-ए-ख़ुदा हज़रत-ए-'उस्मान हैं

जो हैं इमाम-ए-अनाम, जिस के हैं हम सब ग़ुलाम
मरजा'-ए-हर-ख़ास-ओ-'आम हज़रत-ए-'उस्मान हैं

ख़ल्क़ पे लुत्फ़-ए-ख़ुदा हज़रत-ए-'उस्मान हैं

तुम ग़नी, सालिक गदा, इक नज़र बहर-ए-ख़ुदा
आप जहाँ के लिए रहमत-ए-रहमान हैं

ख़ल्क़ पे लुत्फ़-ए-ख़ुदा हज़रत-ए-'उस्मान हैं


शायर:
मुफ़्ती अहमद यार ख़ान न'ईमी

ना'त-ख़्वाँ:
सब्तर अख़्तरी





KHalq pe lutf-e-KHuda hazrat-e-'usman hai.n
jumla maraz ki dawa, dard ke darmaan hai.n

KHalq pe lutf-e-KHuda hazrat-e-'usman hai.n

noor-e-dil-o-'ain hai.n, saahib-e-noorain hai.n
sab ke dil ke chain hai.n, momino.n ki jaan hai.n

KHalq pe lutf-e-KHuda hazrat-e-'usman hai.n

dast-e-shah-e-do-sara jo ki yadullah tha
haath bana aap ka, aap wo zeeshaan hai.n

KHalq pe lutf-e-KHuda hazrat-e-'usman hai.n

aap mamdooh-e-jahaa.n, KHalq-e-KHuda mad.h-KHwaa.n
kya hai agar badgumaa.n chand be-imaan hai.n

KHalq pe lutf-e-KHuda hazrat-e-'usman hai.n

gulshan-e-dee.n ki bahaar, momino ke taajdaar
'izzat-e-har-zee-waqaar, zeenat-e-imaan hai.n

KHalq pe lutf-e-KHuda hazrat-e-'usman hai.n

haq ne wo rutba diya, tum Gani ham sab gada
kya kahu.n mai.n tum ho kya, 'aql-o-dil hairaan hai.n

KHalq pe lutf-e-KHuda hazrat-e-'usman hai.n

jo hai.n imaam-e-anaam, jis ke hai.n ham sab Gulaam
marja'-e-har-KHaas-o-'aam hazrat-e-'usman hai.n

KHalq pe lutf-e-KHuda hazrat-e-'usman hai.n

tum Gani, Saalik gada, ik nazar behr-e-KHuda
aap jahaa.n ke liye rehmat-e-rahmaan hai.n

KHalq pe lutf-e-KHuda hazrat-e-'usman hai.n


Poet:
Mufti Ahmad Yaar Khan Naeemi

Naat-Khwaan:
Sabtar Akhtari
Khalq Pe Lutf e Khuda Hazrat e Usman Hain Lyrics | Khalq Pe Lutf e Khuda Hazrat e Usman Hain Lyrics in Hindi | Manqabat e Hazrat e Usman e Ghani Lyrics | khalk lutfe hazrate hai hei hein | lyrics of naat | naat lyrics in hindi | islamic lyrics | hindi me naat lyrics | hindi me naat likhi hui | All Naat Lyrics in Hindi | नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई | नात शरीफ की किताब हिंदी में | आला हजरत की नात शरीफ lyrics | हिंदी नात | Lyrics in English | Lyrics in Roman 50+ Naat Lyrics | Best Place To Find All Naat Sharif | 500+ Naat Lyrics | Best Site To Find All Naat in Hindi, English | 430 Naat lyrics ideas in 2024

Comments

Most Popular

मेरे हुसैन तुझे सलाम / Mere Husain Tujhe Salaam

वो शहर-ए-मोहब्बत जहाँ मुस्तफ़ा हैं / Wo Shehr-e-Mohabbat Jahan Mustafa Hain (All Versions)

क्या बताऊँ कि क्या मदीना है / Kya Bataun Ki Kya Madina Hai

मेरा बादशाह हुसैन है | ऐसा बादशाह हुसैन है / Mera Baadshaah Husain Hai | Aisa Baadshaah Husain Hai

ऐ ज़हरा के बाबा सुनें इल्तिजा मदीना बुला लीजिए / Aye Zahra Ke Baba Sunen Iltija Madina Bula Lijiye

अल्लाह की रज़ा है मोहब्बत हुसैन की | या हुसैन इब्न-ए-अली / Allah Ki Raza Hai Mohabbat Hussain Ki | Ya Hussain Ibne Ali

कर्बला के जाँ-निसारों को सलाम / Karbala Ke Jaan-nisaron Ko Salam

हुसैन तुम को ज़माना सलाम कहता है / Husain Tum Ko Zamana Salam Kehta Hai

हम हुसैन वाले हैं / Hum Hussain Wale Hain

हुसैन आज सर को कटाने चले हैं / Husain Aaj Sar Ko Katane Chale Hain