है इतनी शदीद अब तो तमन्ना-ए-मदीना | हर साँस से आती है सदा हाए मदीना | मदीना मदीना / Hai Itni Shadeed Ab To Tamanna-e-Madina | Har Sans Se Aati Hai Sada Hae Madina | Madina Madina

मदीना मदीना मदीना मदीना !
मदीना मदीना मदीना मदीना !

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

मदीना मदीना !

है इतनी शदीद अब तो तमन्ना-ए-मदीना
हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

मदीना मदीना !

इस ने भी मदीना देख लिया, उस ने भी मदीना देख लिया
वो दिन भी तो आए मैं भी कहूँ, मैं ने भी मदीना देख लिया

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

ऐ बाद-ए-सबा ! पैग़ाम मोरा, सुल्तान-ए-मदीना को दीजो

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

मदीना मदीना ! मदीना मदीना !
मदीना मदीना मदीना मदीना !


कोई पर्दे छलियाँ दे, कोई पर्दे छलियाँ दे
रस्ते नैं भुल दे तयबा दियाँ गलियाँ दे

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

जिंद गोर गुमावाँ मैं, जिंद गोर गुमावाँ मैं
हिक वारी सद सोहणिया ! फिर मुड़ के न आवाँ मैं

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

मिट्टी पाक मदीने दी, मिट्टी पाक मदीने दी
अखियाँ दा सुरमा ए सानूँ ख़ाक मदीने दी

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

क्या बात ख़ज़ीने दी, क्या बात ख़ज़ीने दी
सारा जग खाँदा ए ख़ैरात मदीने दी

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

होवे ख़ैर सफ़ीने दी, होवे ख़ैर सफ़ीने दी
माण ग़ुलामाँ दा वसे झोक मदीने दी

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

मदीना मदीना मदीना मदीना !
मदीना मदीना मदीना मदीना !

आक़ा मेरे आक़ा ! मुझे तयबा में बुला लो
सोने नहीं देती है तमन्ना-ए-मदीना

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

जागूँ तो इसी धुन में रहूँ रात गए तक
सो जाऊँ तो ख़्वाबों में नज़र आए मदीना

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

मत और किसी शहर की रूदाद सुनाओ
शैदा-ए-मदीना हूँ, मैं शैदा-ए-मदीना

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

मक्का ! तू भी अफ़ज़ल है मगर इतना बता दे
हर शहर से बढ़ कर मुझे क्यूँ भाए मदीना !

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

हो जाए 'अता रख़्त-ए-सफ़र, इज़्न-ए-सफ़र भी
हो जाए करम मुझ पे अब, आक़ा-ए-मदीना !

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

फूलों से भी वो ख़ार हैं बेहतर, तो करे कौन
अंदाज़ा-ए-रा'नाई-ए-गुलहा-ए-मदीना

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

ख़्वाहिश है कि अब जा के न लौटूँ मैं वहाँ से
नाज़िश ! मुझे तक़दीर जो दिखलाए मदीना

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !


शायर:
मुहम्मद हनीफ़ नाज़िश

ना'त-ख़्वाँ:
ख़ालिद हसनैन ख़ालिद



मदीना मदीना मदीना मदीना !
मदीना मदीना मदीना मदीना !

ऐ क़ुदसियो ! दुरूद के हमराह मुझ को भी
लिल्लाह ले चलो शह-ए-अबरार की तरफ़

है इतनी शदीद अब तो तमन्ना-ए-मदीना
हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

आक़ा मेरे आक़ा ! मुझे तयबा में बुला लो
सोने नहीं देती है तमन्ना-ए-मदीना

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

मदीना मदीना मदीना मदीना !
मदीना मदीना मदीना मदीना !

गो पास कुछ नहीं है लेकिन ये देख लेगा
इक दिन मुझे ज़माना सरकार की गली में

दुनिया तेरी मिदहत से भला कैसे न गूँजे
ख़ालिक़ है तेरा मदह-सरा, शाह-ए-मदीना !

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

मदीना मदीना मदीना मदीना !
मदीना मदीना मदीना मदीना !

ख़ुश्बू पे मेरी सारा जहाँ रश्क करेगा
मिल जाए अगर मुझ को मुहम्मद का पसीना

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

मदीना मदीना मदीना मदीना !
मदीना मदीना मदीना मदीना !

लिखता है इसी आस पे सरकार की ना'तें
जौहर को भी मिल जाए शफ़ा'अत का ख़ज़ीना

हर साँस से आती है सदा, हाए मदीना !

मदीना मदीना मदीना मदीना !
मदीना मदीना मदीना मदीना !


ना'त-ख़्वाँ:
राओ हस्सान अली असद





madina madina madina madina !
madina madina madina madina !

har saans se aati hai sada, haae madina !

madina madina !

hai itni shadeed ab to tamanna-e-madina
har saans se aati hai sada, haae madina !

madina madina !

is ne bhi madina dekh liya
us ne bhi madina dekh liya
wo din bhi to aae mai.n bhi kahu.n
mai.n ne bhi madina dekh liya

har saans se aati hai sada, haae madina !

ai baad-e-saba ! paiGaam mora
sultaan-e-madina ko deejo

har saans se aati hai sada, haae madina !

madina madina madina madina !
madina madina madina madina !

koi parde chhaliya.n de, koi parde chhaliya.n de
raste nai.n bhul de tayba diya.n galiya.n de

har saans se aati hai sada, haae madina !

jind gor gumaawaa.n mai.n, jind gor gumaawaa.n mai.n
hik waari sad sohniya ! phir mu.D ke na aawaa.n mai.n

har saans se aati hai sada, haae madina !

miTTi paak madine di, miTTi paak madine di
akhiya.n da surma ae saanu.n KHaak madine di

har saans se aati hai sada, haae madina !

kya baat KHazeene di, kya baat KHazeene di
saara jag KHanda ae KHairaat madine di

har saans se aati hai sada, haae madina !

howe KHair safeene di, howe KHair safeene di
maan Gulaamaa.n da wase jhok madine di

har saans se aati hai sada, haae madina !

madina madina madina madina !
madina madina madina madina !

aaqa mere aaqa ! mujhe tayba me.n bula lo
sone nahi.n deti hai tamanna-e-madina

har saans se aati hai sada, haae madina !

jaagu.n to isi dhun me.n rahu.n raat gae tak
so jaau.n to KHwaabo.n me.n nazar aae madina

har saans se aati hai sada, haae madina !

mat aur kisi shehr ki roodaad sunaao
shaida-e-madina hu.n, mai.n shaida-e-madina

har saans se aati hai sada, haae madina !

makka ! tu bhi afzal hai magar itna bata de
har shehr se ba.Dh kar mujhe kyu.n bhaae madina

har saans se aati hai sada, haae madina !

ho jaae 'ata raKHt-e-safar, izn-e-safar bhi
ho jaae karam mujh pe ab, aaqa-e-madina !

har saans se aati hai sada, haae madina !

phoolo.n se bhi wo KHaar hai.n behtar, to kare kaun
andaaza-e-raa'naai-e-gulha-e-madina

har saans se aati hai sada, haae madina !

KHwahish hai ki ab jaa ke na lauTu.n mai.n wahaa.n se
Naazish ! mujhe taqdeer jo dikhlaae madina

har saans se aati hai sada, haae madina !


Poet:
Muhammad Hanif Nazish

Naat-Khwaan:
Khalid Hasnain Khalid



madina madina madina madina !
madina madina madina madina !

ai qudsiyo ! durood ke hamraah mujh ko bhi
lillah le chalo shah-e-abraar ki taraf

hai itni shadeed ab to tamanna-e-madina
har saans se aati hai sada, haae madina !

aaqa mere aaqa ! mujhe tayba me.n bula lo
sone nahi.n deti hai tamanna-e-madina

har saans se aati hai sada, haae madina !

madina madina madina madina !
madina madina madina madina !

go paas kuchh nahi.n hai lekin ye dekh lega
ik din mujhe zamaana sarkaar ki gali me.n

duniya teri mid.hat se bhala kaise na goonje
KHaaliq hai tera mad.h-sara, shaah-e-madina !

har saans se aati hai sada, haae madina !

madina madina madina madina !
madina madina madina madina !

KHushboo pe meri saara jahaa.n rashk karega
mil jaae agar mujh ko muhammad ka paseena

har saans se aati hai sada, haae madina !

madina madina madina madina !
madina madina madina madina !

likhta hai isi aas pe sarkaar ki naa'te.n
Jauhar ko bhi mil jaae shafaa'at ka KHazeena

har saans se aati hai sada, haae madina !

madina madina madina madina !
madina madina madina madina !


Naat-Khwaan:
Rao Hassan Ali Asad
Hai Itni Shadeed Ab To Lyrics | Hai Itni Shadeed Ab To Tamanna e Madina Lyrics in Hindi | Har Sans Se Aati Hai Sada Hai Madina Lyrics | Madina Mdina Naat Lyrics in Hindi | shadid abto tamannaye ati hei hain hei hein hay hy haye haay haaye | Madina Madina Naat Lyrics in English lyrics of naat | naat lyrics in hindi | islamic lyrics | hindi me naat lyrics | hindi me naat likhi hui | All Naat Lyrics in Hindi | नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई | नात शरीफ की किताब हिंदी में | आला हजरत की नात शरीफ lyrics | हिंदी नात | Lyrics in English | Lyrics in Roman 50+ Naat Lyrics | Best Place To Find All Naat Sharif | 500+ Naat Lyrics | Best Site To Find All Naat in Hindi, English | 430 Naat lyrics ideas in 2024

Comments

Most Popular

क्या बताऊँ कि क्या मदीना है / Kya Bataun Ki Kya Madina Hai

वो शहर-ए-मोहब्बत जहाँ मुस्तफ़ा हैं / Wo Shehr-e-Mohabbat Jahan Mustafa Hain (All Versions)

ऐ ज़हरा के बाबा सुनें इल्तिजा मदीना बुला लीजिए / Aye Zahra Ke Baba Sunen Iltija Madina Bula Lijiye

बेख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Bekhud Kiye Dete Hain Andaz-e-Hijabana

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

कोई दुनिया-ए-अता में नहीं हमता तेरा | तज़मीन - वाह ! क्या जूद-ओ-करम है, शह-ए-बतहा ! तेरा / Koi Duniya-e-Ata Mein Nahin Hamta Tera | Tazmeen of Waah ! Kya Jood-o-Karam Hai, Shah-e-Bat.ha ! Tera

बुला लो फिर मुझे ऐ शाह-ए-बहर-ओ-बर मदीने में / Bula Lo Phir Mujhe Aye Shah-e-Bahr-o-Bar Madine Mein

ऐ सबा मुस्तफ़ा से कह देना ग़म के मारे सलाम कहते हैं / Aye Saba Mustafa Se Keh Dena Gham Ke Mare Salam Kehte Hain (All Versions)