सू-ए-तयबा ये समझ कर हैं ज़माने जाते | ये वो रौज़ा है जहाँ दिल नहीं तोड़े जाते / Soo-e-Taiba Ye Samajh Kar Hai Zamane Jate | Ye Wo Roza Hai Jahan Dil Nahin Tode Jate

सू-ए-तयबा ये समझ कर हैं ज़माने जाते
ये वो रौज़ा है जहाँ दिल नहीं तोड़े जाते

ये है आक़ा की 'इनायत, वो करम करते हैं
वर्ना हम जैसे कहाँ दर पे बुलाए जाते

भूल जाते थे सहाबा ग़म-ओ-आलाम अपने
देख लेते थे जो सरकार को आते जाते

रुत्बे सरकार के क्या ख़ल्क़ से जाने जाते
सब पे असरार-ए-इलाही नहीं खोले जाते

नूर की हद में फ़क़त नूर ही जा सकता है
सिर्फ़ अगर होते बशर 'अर्श पे कैसे जाते ?

जिस्म के साथ उठाए गए जब कि 'ईसा
नूर-ए-कामिल क्यूँ न शब-ए-अस्रा बदन से जाते

चश्म-ए-बातिन से मदीने के नज़ारे देखो
सिर्फ़ आँखों से ये मंज़र नहीं देखे जाते


ना'त-ख़्वाँ:
असद रज़ा अत्तारी
हाफ़िज़ डॉ. निसार अहमद मार्फ़ानी
मुहम्मद अफ़ज़ल नोशाही





soo-e-tayba ye samajh kar hai.n zamaane jaate
ye wo rauza hai jahaa.n dil nahi.n to.De jaate

ye hai aaqa ki 'inaayat, wo karam karte hai.n
warna ham jaise kahaa.n dar pe bulaae jaate

bhool jaate the sahaaba Gam-o-aalaam apne
dekh lete the jo sarkaar ko aate jaate

rutbe sarkaar ke kya KHalq se jaane jaate
sab pe asraar-e-ilaahi nahi.n khole jaate

noor ki had me.n faqat noor hi jaa sakta hai
sirf agar hote bashar 'arsh pe kaise jaate ?

jism ke saath uThaae gae jab ki 'isa
noor-e-kaamil kyu.n na shab-e-asra badan se jaate

chashm-e-baatin se madine ke nazaare dekho
sirf aankho.n se ye manzar nahi.n dekhe jaate


Naat-Khwaan:
Asad Raza Attari
Hafiz Dr. Nisar Ahmed Marfani
Muhammad Afzal Noshahi
Ye Wo Roza Hai Jahan Dil Nahi Tode Jate Lyrics | Sue Taiba Ye Samajh Kar Naat Lyrics in Hindi | Ye Wo Roza Hai Jahan Dil Nahi Tode Jate Lyrics Hindi | yeh woh jahaan jaha tore jaate suye sooye sooe soe samaj | lyrics of naat | naat lyrics in hindi | islamic lyrics | hindi me naat lyrics | hindi me naat likhi hui | All Naat Lyrics in Hindi | नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई | नात शरीफ की किताब हिंदी में | आला हजरत की नात शरीफ lyrics | हिंदी नात | Lyrics in English | Lyrics in Roman 50+ Naat Lyrics | Best Place To Find All Naat Sharif | 500+ Naat Lyrics | Best Site To Find All Naat in Hindi, English | 430 Naat lyrics ideas in 2024

Comments

Most Popular

क्या बताऊँ कि क्या मदीना है / Kya Bataun Ki Kya Madina Hai

वो शहर-ए-मोहब्बत जहाँ मुस्तफ़ा हैं / Wo Shehr-e-Mohabbat Jahan Mustafa Hain (All Versions)

ऐ ज़हरा के बाबा सुनें इल्तिजा मदीना बुला लीजिए / Aye Zahra Ke Baba Sunen Iltija Madina Bula Lijiye

बेख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Bekhud Kiye Dete Hain Andaz-e-Hijabana

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

कोई दुनिया-ए-अता में नहीं हमता तेरा | तज़मीन - वाह ! क्या जूद-ओ-करम है, शह-ए-बतहा ! तेरा / Koi Duniya-e-Ata Mein Nahin Hamta Tera | Tazmeen of Waah ! Kya Jood-o-Karam Hai, Shah-e-Bat.ha ! Tera

बुला लो फिर मुझे ऐ शाह-ए-बहर-ओ-बर मदीने में / Bula Lo Phir Mujhe Aye Shah-e-Bahr-o-Bar Madine Mein

ऐ सबा मुस्तफ़ा से कह देना ग़म के मारे सलाम कहते हैं / Aye Saba Mustafa Se Keh Dena Gham Ke Mare Salam Kehte Hain (All Versions)