मुद्दआ ज़ीस्त का मैं ने पाया | इक नई नात सुना लूँ तो चलूँ | सय्यिदी अंता हबीबी / Mudda Zeest Ka Main Ne Paya | Ik Nayi Naat Suna Lun To Chalun | Sayyadi Anta Habibi

सय्यिदी अंता हबीबी
सय्यिदी अंता हबीबी

मुद्द'आ ज़ीस्त का मैं ने पाया
रहमत-ए-हक़ ने किया फिर साया
मेरे आक़ा ने करम फ़रमाया
फिर मदीने का बुलावा आया

पहले कुछ अश्क बहा लूँ तो चलूँ
इक नई ना'त सुना लूँ तो चलूँ

सय्यिदी अंता हबीबी
सय्यिदी अंता हबीबी

चाँद तारे भी मुझे देखेंगे
माह-पारे भी मुझे देखेंगे
ख़ुद नज़ारे भी मुझे देखेंगे
ग़म के मारे भी मुझे देखेंगे

मैं नज़र सब से बचा लूँ तो चलूँ
इक नई ना'त सुना लूँ तो चलूँ

सय्यिदी अंता हबीबी
सय्यिदी अंता हबीबी

शुक्र में सर को झुकाने के लिए
दाग़ हसरत के मिटाने के लिए
बख़्त-ए-ख़्वाबीदा जगाने के लिए
उन के दरबार में जाने के लिए

अपनी औक़ात बना लूँ तो चलूँ
इक नई ना'त सुना लूँ तो चलूँ

सय्यिदी अंता हबीबी
सय्यिदी अंता हबीबी

शुक्र में सर को झुकाने के लिए
दाग़ हसरत के मिटाने के लिए
बख़्त-ए-ख़्वाबीदा जगाने के लिए
उन के दरबार में जाने के लिए

इज़्न सरकार से पा लूँ तो चलूँ
इक नई ना'त सुना लूँ तो चलूँ

सय्यिदी अंता हबीबी
सय्यिदी अंता हबीबी

दिल ये कहता है मचल जाने दो
अश्क कहते हैं कि बह जाने दो
सर है बेचैन कि झुक जाने दो
रूह कहती है कि उड़ जाने दो

नाज़ इन सब के उठा लूँ तो चलूँ
इक नई ना'त सुना लूँ तो चलूँ

सय्यिदी अंता हबीबी
सय्यिदी अंता हबीबी

सामने हो जो दर-ए-लुत्फ़-ओ-करम
यूँ करूँ 'अर्ज़ कि, या शाह-ए-उमम !
आ गया आप का मोहताज-ए-करम
इस गुनाहगार का रखिएगा भरम

शौक़ को 'अर्ज़ बना लूँ तो चलूँ
इक नई ना'त सुना लूँ तो चलूँ

सय्यिदी अंता हबीबी
सय्यिदी अंता हबीबी

उन की मिदहत में है जीना मेरा
कैसे डूबेगा सफ़ीना मेरा ?
देख लो चीर के सीना मेरा
दिल है या शहर-ए-मदीना मेरा

दिल, अदीब ! अपना दिखा लूँ तो चलूँ
इक नई ना'त सुना लूँ तो चलूँ

सय्यिदी अंता हबीबी
सय्यिदी अंता हबीबी


शायर:
अदीब रायपुरी

ना'त-ख़्वाँ:
ओवैस रज़ा क़ादरी





sayyidi anta habeebi
sayyidi anta habeebi

mudd'aa zeest ka mai.n ne paaya
rehmat-e-haq ne kiya phir saaya
mere aaqa ne karam farmaaya
phir madine ka bulaawa aaya

pehle kuchh ashk baha lu.n to chalu.n
ik nayi naa't suna lu.n to chalu.n

sayyidi anta habeebi
sayyidi anta habeebi

chaand taare.n bhi mujhe dekhenge
maah-paare bhi mujhe dekhenge
KHud nazaare bhu mujhe dekhenge
Gam ke maare bhi mujhe dekhenge

mai.n nazar sab se bacha lu.n to chalu.n
ik nayi naa't suna lu.n to chalu.n

sayyidi anta habeebi
sayyidi anta habeebi

shukr me.n sar ko jhukaane ke liye
daaG hasrat ke miTaane ke liye
baKHt-e-KHwaabida jagaane ke liye
un ke darbaar me.n jaane ke liye

apni auqaat bana lu.n to chalu.n
ik nayi naa't suna lu.n to chalu.n

sayyidi anta habeebi
sayyidi anta habeebi

shukr me.n sar ko jhukaane ke liye
daaG hasrat ke miTaane ke liye
baKHt-e-KHwaabida jagaane ke liye
un ke darbaar me.n jaane ke liye

izn sarkaar se paa lu.n to chalu.n
ik nayi naa't suna lu.n to chalu.n

sayyidi anta habeebi
sayyidi anta habeebi

dil ye kehta hai machal jaane do
ashk kehte hai.n ki beh jaane do
sar hai bechain ki jhuk jaane do
rooh kehti hai ki u.D jaane do

naaz in sab ke uTha lu.n to chalu.n
ik nayi naa't suna lu.n to chalu.n

sayyidi anta habeebi
sayyidi anta habeebi

saamne ho jo dar-e-lutf-o-karam
yu.n karu.n 'arz ki, ya shaah-e-umam !
aa gaya aap ka mohtaaj-e-karam
is gunahgaar ka rakhiyega bharam

shauq ko 'arz bana lu.n to chalu.n
ik nayi naa't suna lu.n to chalu.n

sayyidi anta habeebi
sayyidi anta habeebi

un ki mid.hat me.n hai jeena mera
kaise Doobega safeena mera ?
dekh lo cheer ke seena mera
dil hai ya shehr-e-madina mera

dil, Adeeb ! apna dekha lu.n to chalu.n
ik nayi naa't suna lu.n to chalu.n

sayyidi anta habeebi
sayyidi anta habeebi


Poet:
Adeeb Raipuri

Naat-Khwaan:
Owasi Raza Qadri
Mudda Zeest Ka Maine Paya Lyrics in Hindi | Ek Nayi Naat Suna Lun To Chalun Lyrics in Hindi | Sayyadi Anta Habibi Lyrics | Sayyadi Anta Habibi Lyrics in English | Mudd'a muddaa zist mein ne meine nai lu chalu | syedi sayyedi habeebi habeebee sayedi saiyedi saiyadi | lyrics of naat | naat lyrics in hindi | islamic lyrics | hindi me naat lyrics | hindi me naat likhi hui | All Naat Lyrics in Hindi | नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई | नात शरीफ की किताब हिंदी में | आला हजरत की नात शरीफ lyrics | हिंदी नात | Lyrics in English | Lyrics in Roman 50+ Naat Lyrics | Best Place To Find All Naat Sharif | 500+ Naat Lyrics | Best Site To Find All Naat in Hindi, English | 430 Naat lyrics ideas in 2023

Comments

Most Popular

क्या बताऊँ कि क्या मदीना है / Kya Bataun Ki Kya Madina Hai

वो शहर-ए-मोहब्बत जहाँ मुस्तफ़ा हैं / Wo Shehr-e-Mohabbat Jahan Mustafa Hain (All Versions)

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

बे-ख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Be-Khud Kiye Dete Hain Andaaz-e-Hijabana

नूरी महफ़िल पे चादर तनी नूर की / Noori Mehfil Pe Chadar Tani Noor Ki

वो जिस के लिए महफ़िल-ए-कौनैन सजी है | वो मेरा नबी, मेरा नबी, मेरा नबी है / Wo Jis Ke Liye Mehfil-e-Kaunain Saji Hai | Wo Mera Nabi, Mera Nabi, Mera Nabi Hai

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

पाई शब-ए-बरात ये क़िस्मत की बात है | जागूँगा सारी रात इबादत की रात है / Paai Shab-e-Barat Ye Qismat Ki Baat Hai | Jagunga Saari Raat Ibadat Ki Raat Hai

कोई दुनिया-ए-अता में नहीं हमता तेरा | तज़मीन - वाह ! क्या जूद-ओ-करम है, शह-ए-बतहा ! तेरा / Koi Duniya-e-Ata Mein Nahin Hamta Tera | Tazmeen of Waah ! Kya Jood-o-Karam Hai, Shah-e-Bat.ha ! Tera