कुछ ऐसा कर दे मेरे किर्दगार आँखों में / Kuchh Aisa Kar De Mere Kirdgar Aankhon Mein

कुछ ऐसा कर दे, मेरे किर्दगार ! आँखों में
हमेशा नक़्श रहे रू-ए-यार आँखों में

न कैसे ये गुल-ओ-गुंचे हों ख़्वार आँखों में
बसे हुए हैं मदीने के ख़ार आँखों में

बसा हुआ है कोई गुल-'अज़ार आँखों में
खिला है चार तरफ़ लाला-ज़ार आँखों में

वो नूर दे, मेरे परवरदिगार ! आँखों में
कि जल्वा-गर रहे रुख़ की बहार आँखों में

बसर के साथ बसीरत भी ख़ूब रौशन हो
लगाऊँ ख़ाक-ए-क़दम बार बार आँखों में

उन्हें न देखा तो किस काम की हैं ये आँखें
कि देखने की है सारी बहार आँखों में

नज़र में कैसे समाएँगे फूल जन्नत के
कि बस चुके हैं मदीने के ख़ार आँखों में

अजब नहीं कि लिखा लौह का नज़र आए
जो नक़्श-ए-पा का लगाऊँ ग़ुबार आँखों में

करम ये मुझ पे किया है मेरे तसव्वुर ने
कि आज खींच दी तस्वीर-ए-यार आँखों में

फ़रिश्तो ! पूछते हो मुझ से किस की उम्मत हो
लो देख लो, ये है तस्वीर-ए-यार आँखों में

पिया है जाम-ए-मोहब्बत जो आप ने, नूरी !
हमेशा इस का रहेगा ख़ुमार आँखों में


शायर:
मुस्तफ़ा रज़ा ख़ान नूरी

ना'त-ख़्वाँ:
ओवैस रज़ा क़ादरी
ग़ुलाम मुस्तफ़ा क़ादरी





kuchh aisa kar de, mere kirdgaar ! aankho.n me.n
hamesha naqsh rahe roo-e-yaar aankho.n me.n

na kaise ye gul-o-gunche ho.n KHwaar aankho.n me.n
base hue hai.n madine ke KHaar aankho.n me.n

basa huaa hai koi gul-'azaar aankho.n me.n
khila hai chaar taraf laala-zaar aankho.n me.n

wo noor de, mere parwardigaar ! aankho.n me.n
ki jalwa-gar rahe ruKH ki bahaar aankho.n me.n

basar ke saath baseerat bhi KHoob raushan ho
lagaau.n KHaak-e-qadam baar baar aankho.n me.n

unhe.n na dekha to kis kaam ki hai.n ye aankhe.n
ki dekhne ki hai saari bahaar aankho.n me.n

ajab nahi.n ki likha lauh ka nazar aae
jo naqsh-e-paa ka lagaau.n Gubaar aankho.n me.n

karam ye mujh pe kiya hai mere tasawwur ne
ki aaj kheench di tasweer-e-yaar aankho.n me.n

farishto ! poochhte ho mujh se kis ki ummat ho
lo dekh lo, ye hai tasweer-e-yaar aankho.n me.n

piya hai jaam-e-mohabbat jo aap ne, Noori !
hamesha is ka rahega KHumaar aankho.n me.n


Poet:
Mustafa Raza Khan

Naat-Khwaan:
Owais Raza Qadri
Ghulam Mustafa Qadri
Kuch Aisa Kar De Mere Kirdigar Aankhon Mein Lyrics | Kuchh Aisa Kar De Mere Kirdgaar Aankhon Mein Lyrics in Hindi | Kuch Aisa Karde Mere Kirdigar ankho ankhon aankho me mei mai main |Kuch Aisa Kar De Mere Kirdgaar Aankhon Me Lyrics in Hindi, Kuch Aisa Karde Mere Kirdigar Ankhon Mein Naat Lyrics in Hindi, Kuchh Aysa Kar De Lyrics, esa aesa asaa asa esa aesaa aysaa aisaa kar den kirdgar kirdigaar aakho aakhon aankhon akhon akho me men me.n hamesha hamesa naks naqs naqsh naksh rahe rooe yaar rue roo e ru lyrics of naat | naat lyrics in hindi | islamic lyrics | hindi me naat lyrics | hindi me naat likhi hui | All Naat Lyrics in Hindi | नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई | नात शरीफ की किताब हिंदी में | आला हजरत की नात शरीफ lyrics | हिंदी नात | Lyrics in English | Lyrics in Roman 50+ Naat Lyrics | Best Place To Find All Naat Sharif | 500+ Naat Lyrics | Best Site To Find All Naat in Hindi, English | 430 Naat lyrics ideas in 2024

Comments

Post a Comment

Most Popular

क्या बताऊँ कि क्या मदीना है / Kya Bataun Ki Kya Madina Hai

वो शहर-ए-मोहब्बत जहाँ मुस्तफ़ा हैं / Wo Shehr-e-Mohabbat Jahan Mustafa Hain (All Versions)

ऐ ज़हरा के बाबा सुनें इल्तिजा मदीना बुला लीजिए / Aye Zahra Ke Baba Sunen Iltija Madina Bula Lijiye

बेख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Bekhud Kiye Dete Hain Andaz-e-Hijabana

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

कोई दुनिया-ए-अता में नहीं हमता तेरा | तज़मीन - वाह ! क्या जूद-ओ-करम है, शह-ए-बतहा ! तेरा / Koi Duniya-e-Ata Mein Nahin Hamta Tera | Tazmeen of Waah ! Kya Jood-o-Karam Hai, Shah-e-Bat.ha ! Tera

बुला लो फिर मुझे ऐ शाह-ए-बहर-ओ-बर मदीने में / Bula Lo Phir Mujhe Aye Shah-e-Bahr-o-Bar Madine Mein

ऐ सबा मुस्तफ़ा से कह देना ग़म के मारे सलाम कहते हैं / Aye Saba Mustafa Se Keh Dena Gham Ke Mare Salam Kehte Hain (All Versions)