बयाँ हो किस ज़बाँ से मर्तबा सिद्दीक़-ए-अकबर का / Bayan Ho Kis Zaban Se Martaba Siddiq-e-Akbar Ka

बयाँ हो किस ज़बाँ से मर्तबा सिद्दीक़-ए-अकबर का
है यार-ए-ग़ार महबूब-ए-ख़ुदा सिद्दीक़-ए-अकबर का

इलाही ! रहम फ़रमा ख़ादिम-ए-सिद्दीक़-ए-अकबर हूँ
तेरी रहमत के सदक़े, वास्ता सिद्दीक़-ए-अकबर का

रुसुल और अंबिया के बा'द जो अफ़ज़ल हो 'आलम से
ये 'आलम में है किस का मर्तबा ? सिद्दीक़-ए-अकबर का

गदा सिद्दीक़-ए-अकबर का ख़ुदा से फ़ज़्ल पाता है
ख़ुदा के फ़ज़्ल से मैं हूँ गदा सिद्दीक़-ए-अकबर का

हुए फ़ारूक़-ओ-'उस्मान-ओ-'अली जब दाख़िल-ए-बै'अत
बना फ़ख़्र-ए-सलासिल सिलसिला सिद्दीक़-ए-अकबर का

नबी का और ख़ुदा का मद्ह-गो सिद्दीक़-ए-अकबर है
नबी सिद्दीक़-ए-अकबर का, ख़ुदा सिद्दीक़-ए-अकबर का

'अली हैं उस के दुश्मन और वो दुश्मन 'अली का है
जो दुश्मन 'अक़्ल का, दुश्मन हुआ सिद्दीक़-ए-अकबर का

लुटाया राह-ए-हक़ में घर कई बार इस मोहब्बत से
कि लुट लुट कर, हसन ! घर बन गया सिद्दीक़-ए-अकबर का


शायर:
मौलाना हसन रज़ा ख़ान

ना'त-ख़्वाँ:
ओवैस रज़ा क़ादरी





bayaa.n ho kis zabaa.n se martaba siddiq-e-akbar ka
hai yaar-e-Gaar mahboob-e-KHuda siddiq-e-akbar ka

ilaahi ! rahm farma KHaadim-e-siddiq-e-akbar hu.n
teri rahmat ke sadqe, waasta siddiq-e-akbar ka

rusool aur ambiya ke baa'd jo afzal ho 'aalam se
ye 'aalam me.n hai kis ka martaba ? siddiq-e-akbar ka

gada siddiq-e-akbar ka KHuda se fazl paata hai
KHuda ke fazl se mai.n hu.n gada siddiq-e-akbar ka

hue faarooq-o-'usmaan-o-'ali jab daaKHil-e-bai'at
bana faKHr-e-salaasil silsila siddiq-e-akbar ka

nabi ka aur KHuda ka mad.h-go siddiq-e-akbar ka
nabi siddiq-e-akbar ka, KHuda siddiq-e-akbar ka

'ali hai.n us ke dushman aur wo dushman 'ali ka hai
jo dushman 'aql ka, dushman huaa siddiq-e-akbar ka

luTaaya raah-e-haq me.n ghar kai baar is mohabbat se
ki luT luT kar, Hasan ! ghar ban gaya siddiq-e-akbar ka


Poet:
Maulana Hasan Raza Khan

Naat-Khwaan:
Owais Raza Qadri
Bayan Ho Kis Zuban Se Martaba Siddiq e Akbar Ka Lyrics | Bayan Ho Kis Zaban Se Martaba Siddiq e Akbar Ka Lyrics in Hindi | Bayan Ho Kis Zuban Lyrics | Manqabat e Siddiq e Akbar Lyrics | Owais Raza Qadri Lyrics Bayan Ho Kis Zuban Se Martaba Siddiq e Akbar Ka Lyrics, Bayaan Ho Kis Zaban Se Martaba Siddiq e Akbar Ka Lyrics in Hindi, Bayaan Ho Kis Zubaan Se Bayan Ho Kis Zuban Se Martaba Siddiq e Akbar Ka Lyrics in Hindi, Hai Yaar e Gaar Mahboob e Khuda Siddiq e Akbar Ka Lyrics in Hindi, baya bayaa bayaan zaban zubaan zabaan zuba se siddique akbar siddike siddiqe sidike sidiqe sidik sidiq he yaare yare yar gar mehboob maheboob mahboobe mehboobe maheboobe khuda lyrics of naat, naat lyrics in hindi, islamic lyrics, hindi me naat lyrics, hindi me naat likhi hui, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई, नात शरीफ की किताब हिंदी में, आला हजरत की नात शरीफ lyrics, हिंदी नात, Lyrics in English, Lyrics in Roman

Comments

Most Popular

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

मैं बंदा-ए-'आसी हूँ, ख़ता-कार हूँ, मौला ! / Main Banda-e-Aasi Hoon, Khata-Kaar Hoon, Maula !

तेरा नाम ख़्वाजा मुईनुद्दीन | तू रसूल-ए-पाक की आल है / Tera Naam Khwaja Moinuddin | Tu Rasool-e-Pak Ki Aal Hai

बे-ख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Be-Khud Kiye Dete Hain Andaaz-e-Hijabana

उन का मँगता हूँ जो मँगता नहीं होने देते / Un Ka Mangta Hun Jo Mangta Nahin Hone Dete

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए / Haal-e-Dil Kis Ko Sunaaen Aap Ke Hote Hue

मौला अली मौला ! मौला अली मौला ! / Maula Ali Maula ! Maula Ali Maula !

छूटे न कभी तेरा दामन या ख़्वाजा मुईनुद्दीन हसन / Chhoote Na Kabhi Tera Daman Ya Khwaja Muinuddin Hasan