क्या शान पाई अल्लाहु अकबर | सिद्दीक़-ए-अकबर सिद्दीक़-ए-अकबर / Kya Shan Pai Allahu Akbar | Siddiq-e-Akbar Siddiq-e-Akbar

क्या शान पाई, अल्लाहु अकबर !
सिद्दीक़-ए-अकबर ! सिद्दीक़-ए-अकबर !
सरकार के हो तुम ख़ास दिलबर
सिद्दीक़-ए-अकबर ! सिद्दीक़-ए-अकबर !

तुम्ही तो ठहरे पहले ख़लीफ़ा
हर इक सहाबी क़ाइल तुम्हारा
फ़ारूक़ हो या 'उस्मान-ओ-हैदर
सिद्दीक़-ए-अकबर ! सिद्दीक़-ए-अकबर !

हर वक़्त आक़ा के साथ रहते
सफ़र-ओ-हज़र में, बाज़ार-ओ-घर में
अब भी लहद में उन के बराबर
सिद्दीक़-ए-अकबर ! सिद्दीक़-ए-अकबर !

कैसी है रौनक़ ! 'उस्माँ, 'उमर भी
दरबार में हैं हाज़िर 'अली भी
करते हैं बै'अत शब्बीर-ओ-शब्बर
सिद्दीक़-ए-अकबर ! सिद्दीक़-ए-अकबर !

असहाब के गुन गाते रहेंगे
'इज़्ज़त पे पहरा देते रहेंगे
हम भी, उजागर ! ख़ादिम हैं नौकर
सिद्दीक़-ए-अकबर ! सिद्दीक़-ए-अकबर !


शायर:
अल्लामा निसार अली उजागर

ना'त-ख़्वाँ:
राओ ब्रदर्स
मुहम्मद अदनान अत्तारी





kya shaan paai, allahu akbar !
siddiq-e-akbar ! siddiq-e-akbar !
sarkaar ke ho tum KHaas dilbar
siddiq-e-akbar ! siddiq-e-akbar !

tumhi to Thahre pehle KHalifa
har ik sahaabi qaail tumhaara
faarooq ho ya 'usmaan-o-haidar
siddiq-e-akbar ! siddiq-e-akbar !

har waqt aaqa ke saath rahte
safar-o-hazar me.n, baazaar-o-ghar me.n
ab bhi lahad me.n un ke baraabar
siddiq-e-akbar ! siddiq-e-akbar !

kaisi hai raunaq ! 'usmaa.n, 'umar bhi
darbaar me.n hai.n haazir 'ali bhi
karte hai.n bai'at shabbir-o-shabbar
siddiq-e-akbar ! siddiq-e-akbar !

as.haab ke gun gaate rahenge
'izzat pe pehra dete rahenge
ham bhi, Ujaagar ! KHaadim hai.n naukar
siddiq-e-akbar ! siddiq-e-akbar !


Poet:
Allama Nisar Ali Ujagar

Naat-Khwaan:
Rao Brothers
Muhammad Adnan Attari
Kya Shan Pai Allahu Akbar Lyrics | Kya Shan Payi Siddique Akbar Lyrics in Hindi | Kya Shaan Paai Allahu Akbar Siddiq e Akbar Siddiq e Akbar Lyrics | Kia Shaan Paayi Paai allaho siddiqu e Akbar siddik siddike | Manqabat e Siddiq e Akbar Lyrics | Rao Brothers Naat Lyrics lyrics of naat, naat lyrics in hindi, islamic lyrics, hindi me naat lyrics, hindi me naat likhi hui, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई, नात शरीफ की किताब हिंदी में, आला हजरत की नात शरीफ lyrics, हिंदी नात, Lyrics in English, Lyrics in Roman

Comments

Most Popular

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

मैं बंदा-ए-'आसी हूँ, ख़ता-कार हूँ, मौला ! / Main Banda-e-Aasi Hoon, Khata-Kaar Hoon, Maula !

तेरा नाम ख़्वाजा मुईनुद्दीन | तू रसूल-ए-पाक की आल है / Tera Naam Khwaja Moinuddin | Tu Rasool-e-Pak Ki Aal Hai

बे-ख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Be-Khud Kiye Dete Hain Andaaz-e-Hijabana

उन का मँगता हूँ जो मँगता नहीं होने देते / Un Ka Mangta Hun Jo Mangta Nahin Hone Dete

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए / Haal-e-Dil Kis Ko Sunaaen Aap Ke Hote Hue

मौला अली मौला ! मौला अली मौला ! / Maula Ali Maula ! Maula Ali Maula !

छूटे न कभी तेरा दामन या ख़्वाजा मुईनुद्दीन हसन / Chhoote Na Kabhi Tera Daman Ya Khwaja Muinuddin Hasan