क्यूँ कर न मेरे दिल में हो उल्फ़त रसूल की / Kyun Kar Na Mere Dil Mein Ho Ulfat Rasool Ki

क्यूँकर न मेरे दिल में हो उल्फ़त रसूल की
जन्नत में ले के जाएगी चाहत रसूल की

चलता हूँ मैं भी, क़ाफ़िले वालो ! रुको ज़रा
मिलने दो बस मुझे भी इजाज़त रसूल की

पूछें जो दीन-ओ-ईमाँ नकीरैन क़ब्र में
उस वक़्त मेरे लब पे हो मिदहत रसूल की

क़ब्र में सरकार आएँ तो मैं क़दमों में गिरूँ
गर फ़रिश्ते भी उठाएँ तो मैं उन से यूँ कहूँ
अब तो पा-ए-नाज़ से मैं, ऐ फ़रिश्तो ! क्यूँ उठूँ ?
मर के पहुँचा हूँ यहाँ इस दिलरुबा के वास्ते

तड़पा के उन के क़दमों में मुझ को गिरा दे शौक़
जिस वक़्त हो लहद में ज़ियारत रसूल की

सरकार ने बुला के मदीना दिखा दिया
होगी मुझे नसीब शफ़ा'अत रसूल की

या रब ! दिखा दे आज की शब जल्वा-ए-हबीब
इक बार तो 'अता हो ज़ियारत रसूल की

इन आँखों का वर्ना कोई मसरफ़ ही नहीं है
सरकार ! तुम्हारा रुख़-ए-ज़ेबा नज़र आए

या रब ! दिखा दे आज की शब जल्वा-ए-हबीब
इक बार तो 'अता हो ज़ियारत रसूल की

तू है ग़ुलाम उन का, 'उबैद-ए-रज़ा ! तेरे
महशर में होगी साथ हिमायत रसूल की


शायर:
ओवैस रज़ा क़ादरी

ना'त-ख़्वाँ:
ओवैस रज़ा क़ादरी
फ़रहान अली क़ादरी
लाइबा फ़ातिमा





kyunkar na mere dil me.n ho ulfat rasool ki
jannat me.n le ke jaaegi chaahat rasool ki

chalta hu.n mai.n bhi, qaafile waalo ! ruko zara
milne do bas mujhe bhi ijaazat rasool ki

poochhe.n jo deen-o-imaa.n nakirain qabr me.n
us waqt mere lab pe ho mid.hat rasool ki

qabr me.n sarkaar aae.n to mai.n qadmo.n me.n giru.n
gar farishte bhi uThaaae.n to mai.n un se yu.n kahu.n
ab to paa-e-naaz se mai.n, ai farishto ! kyu.n uThu.n ?
mar ke pahuncha hu.n yaha.n is dilruba ke waaste

ta.Dpa ke un ke qadmo.n me.n mujh ko gira de shauq
jis waqt ho lahad me.n ziyaarat rasool ki

sarkaar ne bula ke madina dikha diya
hogi mujhe naseeb shafaa'at rasool ki

ya rab ! dikha de aaj ki shab jalwa-e-habeeb
ik baar to 'ata ho ziyaarat rasool ki

in aankho.n ka warna koi masraf hi nahi.n hai 
sarkaar ! tumhaara ruKH-e-zeba nazar aae

ya rab ! dikha de aaj ki shab jalwa-e-habeeb
ik baar to 'ata ho ziyaarat rasool ki

tu hai Gulaam un ka, 'Ubaid-e-Raza ! tere
mehshar me.n hogi saath himaayat rasool ki


Poet:
Owais Raza Qadri

Naat-Khwaan:
Owais Raza Qadri
Farhan Ali Qadri
Laiba Fatima
Kyun Kar Na Mere Dil Mein Ho Ulfat Rasool Ki Lyrics in Hindi | Jannat Mein Leke Jayegi Chahat Rasool Ki Lyrics in Hindi | Ulfat Rasool Ki Naat Lyrics | Chahat Rasool Ki Lyrics | Kyu Kyukar Kyo Kyon Kyonkar karna mery merey me mei main mein rasul le ke jaegi lyrics of naat, naat lyrics in hindi, islamic lyrics, hindi me naat lyrics, hindi me naat likhi hui, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई, नात शरीफ की किताब हिंदी में, आला हजरत की नात शरीफ lyrics, हिंदी नात, Lyrics in English, Lyrics in Roman

Comments

Most Popular

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

मैं बंदा-ए-'आसी हूँ, ख़ता-कार हूँ, मौला ! / Main Banda-e-Aasi Hoon, Khata-Kaar Hoon, Maula !

बे-ख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Be-Khud Kiye Dete Hain Andaaz-e-Hijabana

उन का मँगता हूँ जो मँगता नहीं होने देते / Un Ka Mangta Hun Jo Mangta Nahin Hone Dete

तेरा नाम ख़्वाजा मुईनुद्दीन | तू रसूल-ए-पाक की आल है / Tera Naam Khwaja Moinuddin | Tu Rasool-e-Pak Ki Aal Hai

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए / Haal-e-Dil Kis Ko Sunaaen Aap Ke Hote Hue

छूटे न कभी तेरा दामन या ख़्वाजा मुईनुद्दीन हसन / Chhoote Na Kabhi Tera Daman Ya Khwaja Muinuddin Hasan

जानम फ़िदा-ए-हैदरी या अली अली अली / Jaanam Fida-e-Haideri Ya Ali Ali Ali (All Versions)