मेरे दिल में है याद-ए-मुहम्मद मेरे होंटों पे ज़िक्र-ए-मदीना / Mere Dil Mein Hai Yaad-e-Muhammad Mere Honton Pe Zikr-e-Madina

मेरे दिल में है याद-ए-मुहम्मद, मेरे होंटों पे ज़िक्र-ए-मदीना
ताजदार-ए-हरम के करम से आ गया ज़िंदगी का क़रीना

दिल शिकस्ता है मेरा तो क्या ग़म, इस में रहते हैं शाह-ए-दो-'आलम
जब से मेहमाँ हुए हैं वो दिल में, दिल मेरा बन गया है मदीना

मैं ग़ुलाम-ए-ग़ुलामान-ए-अहमद, मैं सग-ए-आस्तान-ए-मुहम्मद
क़ाबिल-ए-फ़ख़्र है मौत मेरी, क़ाबिल-ए-रश्क है मेरा जीना

हर ख़ता पर मेरी चश्म-पोशी, हर तलब पर 'अताओं की बारिश
मुझ गुनहगार पर किस-क़दर हैं मेहरबाँ ताजदार-ए-मदीना

मुझ को तूफ़ाँ की मौजों का क्या डर, वो गुज़र जाएगा रुख़ बदल कर
ना-ख़ुदा हैं मेरे जब मुहम्मद, कैसे डूबेगा मेरा सफ़ीना

चल मदीने को चल, ग़म के मारे ! ज़िंदगी को मिलेंगे सहारे
आ गया है हरम से बुलावा, कूच करते हैं सू-ए-मदीना

उन के चश्म-ए-करम की 'अता है, मेरे सीने में उन की ज़िया है
याद-ए-सुल्तान-ए-तयबा के सदक़े मेरा सीना है मिस्ल-ए-नगीना

दौलत-ए-'इश्क़ से दिल ग़नी है, मेरी क़िस्मत है रश्क-ए-सिकंदर
मिदहत-ए-मुस्तफ़ा की बदौलत मिल गया है मुझे ये ख़ज़ीना


शायर:
सिकंदर लखनवी

ना'त-ख़्वाँ:
ख़ुर्शीद अहमद
ओवैस रज़ा क़ादरी
मदनी रज़ा अत्तारी





mere dil me.n hai yaad-e-muhammad
mere honTo.n pe zikr-e-madina
taajdaar-e-haram ke karam se
aa gaya zindagi ka qareena

dil shikasta hai mera to kya Gam
is me.n rehte hai.n shaah-e-do-'aalam
jab se mehma.n hue hai.n wo dil me.n
dil mera ban gaya hai madina

mai.n Gulaam-e-Gulaamaan-e-ahmad
mai.n sag-e-aastaan-e-muhammad
qaabil-e-faKHr hai maut meri
qaabil-e-rashk hai mera jeena

har KHata par meri chashm-poshi
har talab par 'ataao.n ki baarish
mujh gunahgaar par kis-qadar hai.n
mehrba.n taajdaar-e-madina

mujh ko toofaa.n ki maujo.n ka kya Dar
wo guzar jaaega ruKH badal kar
naa-KHuda hai.n mere jab muhammad
kaise Doobega mera safeena

chal madine ko chal, Gam ke maare !
zindagi ko milenge sahaare
aa gaya hai haram se bulaawa
kooch karte hai.n soo-e-madina

un ke chashm-e-karam ki 'ata hai
mere seene me.n un ki ziya hai
yaad-e-sultaan-e-tayba ke sadqe
mera seena hai misl-e-nageena

daulat-e-'ishq se dil Gani hai
meri qismat hai rashk-e-Sikandar
mid.hat-e-mustafa ki badaulat
mil gaya hai mujhe ye KHazeena


Poet:
Sikandar Lakhnavi

Naat-Khwaan:
Khursheed Ahmad
Owais Raza Qadri
Madani Raza Attari
Mere Dil Mein Hai Yaad e Muhammad Lyrics in Hindi | Mere Dil Me Hai Yaade Muhammad Lyrics | Meray Dil Mein Hai Yaad e Muhammad Lyrics in Hindi |main mai mei yad yade mohammad mohammed muhammed honton pe zikr e madina Lyrics lyrics of naat, naat lyrics in hindi, islamic lyrics, hindi me naat lyrics, hindi me naat likhi hui, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई, नात शरीफ की किताब हिंदी में, आला हजरत की नात शरीफ lyrics, हिंदी नात, Lyrics in English, Lyrics in Roman

Comments

Most Popular

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

मैं बंदा-ए-'आसी हूँ, ख़ता-कार हूँ, मौला ! / Main Banda-e-Aasi Hoon, Khata-Kaar Hoon, Maula !

तेरा नाम ख़्वाजा मुईनुद्दीन | तू रसूल-ए-पाक की आल है / Tera Naam Khwaja Moinuddin | Tu Rasool-e-Pak Ki Aal Hai

बे-ख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Be-Khud Kiye Dete Hain Andaaz-e-Hijabana

उन का मँगता हूँ जो मँगता नहीं होने देते / Un Ka Mangta Hun Jo Mangta Nahin Hone Dete

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए / Haal-e-Dil Kis Ko Sunaaen Aap Ke Hote Hue

मौला अली मौला ! मौला अली मौला ! / Maula Ali Maula ! Maula Ali Maula !

छूटे न कभी तेरा दामन या ख़्वाजा मुईनुद्दीन हसन / Chhoote Na Kabhi Tera Daman Ya Khwaja Muinuddin Hasan