मेरे दिल की भी हसरत पूरी ऐ मेरे शहा कर दें | मुनव्वर मेरी आँखों को मेरे शम्सुद्दुहा कर दें तज़मीन के साथ / Mere Dil Ki Bhi Hasrat Poori Aye Mere Shaha Kar Den | Muanawwar Meri Aankhon Ko Mere Shamsudduha Kar Den With Tazmeen

मेरे दिल की भी हसरत पूरी, ऐ मेरे शहा ! कर दें
मदीने में मुझे दो गज़ ज़मीं, आक़ा ! 'अता कर दें
करम की इक नज़र मुझ पर, शह-ए-हर-दो-सरा ! कर दें
मुनव्वर मेरी आँखों को, मेरे शम्सुद्दुहा ! कर दें
ग़मों की धूप में वो साया-ए-ज़ुल्फ़-ए-दोता कर दें

ज़बाँ बू-जहल की मुट्ठी में कंकर को 'अता कर दें
सुराक़ा को ज़मीं पकड़े, इशारा मुस्तफ़ा कर दें
हुसैन इब्न-ए-'अली को फ़ातेह-ए-कर्ब-ओ-बला कर दें
जहाँ-बानी 'अता कर दें, भरी जन्नत हिबा कर दें
नबी मुख़्तार-ए-कुल हैं, जिस को जो चाहें 'अता कर दें

'अली के वास्ते सहबा में सूरज को बुला कर दें
जनाब-ए-ग़ौस को वो ताजदार-ए-औलिया कर दें
हुकूमत हिन्द की ख़्वाजा के हाथों में 'अता कर दें
जहाँ में उन की चलती है, वो दम में क्या से क्या कर दें
ज़मीं को आसमाँ कर दें, सुरय्या को सरा कर दें

बदल सकता नहीं हरगिज़ 'उमर जो फ़ैसला कर दें
जो ना माने तो उस के सर को वो तन से जुदा कर दें
जनाब-ए-हज़रत-ए-सिद्दीक़ सब उन पर फ़िदा कर दें
नबी से जो हो बेगाना, उसे दिल से जुदा कर दें
पिदर, मादर, बिरादर, माल-ओ-जाँ उन पर फ़िदा कर दें

मेरे ताज-ए-शरी'अत का, हिमायत ! फ़ैज़ है तुझ पर
शफ़ा'अत जब मेरी वो ख़ुद करेंगे शाफ़े'-ए-महशर
रज़ा के 'इश्क़ में पलता हूँ फिर किस बात का है डर
हिमायत ! 'उम्र गुज़रे मुस्तफ़ा की ना'त पढ़ पढ़ कर
मुझे क्या फ़िक्र हो, अख़्तर ! मेरे यावर हैं वो यावर
बलाओं को मेरी जो ख़ुद गिरफ़्तार-ए-बला कर दें


कलाम:
मुफ़्ती अख़्तर रज़ा ख़ान

तज़मीन:
ना-मा'लूम

ना'त-ख़्वाँ:
हाफ़िज़ डॉ. निसार अहमद मार्फ़ानी





mere dil ki bhi hasrat poori, ai mere shaha ! kar de.n
madine me.n mujhe do gaz zamee.n, aaqa ! 'ata kar de.n
karam ki ik nazar mujh par, shah-e-har-do-sara ! kar de.n
munawwar meri aankho.n ko, mere shamsudduha ! kar de.n
Gamo.n ki dhoop me.n wo saaya-e-zulf-e-dota kar de.n

zabaa.n bu-jahl ki muTThi me.n kankar ko 'ata kar de.n
suraaqa ko zamee.n pak.de, ishaara mustafa kar de.n
husain ibn-e-'ali ko faateh-e-karb-o-bala kar de.n
jaha.n-baani 'ata kar de.n, bhari jannat hiba kar de.n
nabi muKHtaar-e-kul hai.n, jis ko jo chaahe.n 'ata kar de.n

'ali ke waaste sahba me.n sooraj ko bula kar de.n
janaab-e-Gaus ko wo taajdaar-e-auliya kar de.n
hukoomat hind ki KHwaja ke haatho.n me.n 'ata kar de.n
jaha.n me.n un ki chalti hai, wo dam me.n kya se kya kar de.n
zamee.n ko aasmaa.n kar de.n, surayya ko sara kar de.n

badal sakta nahi.n hargiz 'umar jo faisla kar de.n
jo na maane to us ke sar ko wo tan se juda kar de.n
janaab-e-hazrat-e-siddiq sab un par fida kar de.n
nabi se jo ho begaana, use dil se juda kar de.n
pidar, maadar, biraadar, maal-o-jaa.n un par fida kar de.n

mere taaj-e-sharee'at ka, Himaayat ! faiz hai tujh par
shafaa'at jab meri wo KHud karenge shafe'-e-mehshar
raza ke 'ishq me.n palta hu.n phir kis baat ka hai Dar
Himaayat ! 'umr guzre mustafa ki naa't pa.Dh pa.Dh kar
mujhe kya fikr ho, aKHtar ! mere yaawar hai.n wo yaawar
balaao.n ko meri jo KHud giraftaar-e-bala kar de.n


Kalam:

Akhtar Raza Khan Barelvi

Tazmeen:
Unknown

Naat-Khwaan:
Hafiz Dr. Nisar Ahmed Marfani
Mere Dil Ki Bhi Hasrat Poori Aye Mere Shaha Kar De Lyrics in Hindi | Munawwar Meri Ankhon Ko Mere Shamsudduha Kar De With Tazmeen Lyrics in Hindi |puri ae ay dein ankho aankho karde karden | lyrics of naat | naat lyrics in hindi | islamic lyrics | hindi me naat lyrics | hindi me naat likhi hui | All Naat Lyrics in Hindi | नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई | नात शरीफ की किताब हिंदी में | आला हजरत की नात शरीफ lyrics | हिंदी नात | Lyrics in English | Lyrics in Roman 50+ Naat Lyrics | Best Place To Find All Naat Sharif | 500+ Naat Lyrics | Best Site To Find All Naat in Hindi, English | 430 Naat lyrics ideas in 2024

Comments

Most Popular

क्या बताऊँ कि क्या मदीना है / Kya Bataun Ki Kya Madina Hai

वो शहर-ए-मोहब्बत जहाँ मुस्तफ़ा हैं / Wo Shehr-e-Mohabbat Jahan Mustafa Hain (All Versions)

ऐ ज़हरा के बाबा सुनें इल्तिजा मदीना बुला लीजिए / Aye Zahra Ke Baba Sunen Iltija Madina Bula Lijiye

बेख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Bekhud Kiye Dete Hain Andaz-e-Hijabana

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

कोई दुनिया-ए-अता में नहीं हमता तेरा | तज़मीन - वाह ! क्या जूद-ओ-करम है, शह-ए-बतहा ! तेरा / Koi Duniya-e-Ata Mein Nahin Hamta Tera | Tazmeen of Waah ! Kya Jood-o-Karam Hai, Shah-e-Bat.ha ! Tera

ज़िंदगी ये नहीं है किसी के लिए | वल्लाह वल्लाह / Zindagi Ye Nahin Hai Kisi Ke Liye | Wallah Wallah

जहाँ-बानी अता कर दें भरी जन्नत हिबा कर दें | मुनव्वर मेरी आँखों को मेरे शम्सुद्दुहा कर दें / Jahan-bani Ata Kar Den Bhari Jannat Hiba Kar Den | Muanawwar Meri Aankhon Ko Mere Shamsudduha Kar Den