मुझे भी मदीने बुला मेरे मौला / Mujhe Bhi Madine Bula Mere Maula

मुझे भी मदीने बुला, मेरे मौला !
करम की तजल्ली दिखा, मेरे मौला !
बहुत बे-क़रारी के 'आलम में हूँ मैं
मेरी बे-क़रारी मिटा, मेरे मौला !

यक़ीं है मदीना करम ही करम है
तू रखता जहाँ में सभी का भरम है
तुझे वासिता तेरे प्यारे नबी का
मेरी अब तो बिगड़ी बना, मेरे मौला !

ये दोनों जहाँ तेरे ज़ेर-ए-असर हैं
जो तुझ को न मानें बड़े बे-ख़बर हैं
नहीं जानते जो भी तेरे ग़ज़ब को
उन्हें ग़फ़लतों से जगा, मेरे मौला !

जिसे तू ने चाहा मैं उस पे फ़िदा हूँ
मैं तेरे मुहम्मद के दर का गदा हूँ
तुझे वासिता कर्बला की ज़मीं का
मुझे हर बला से बचा, मेरे मौला !

शफ़ाअत का वा'दा किया तू ने जिस से
गुनाहगार उम्मीद रखते हैं उस से
सिफ़ारिश करें तुझ से उम्मत की आक़ा
तू करना सभी का भला, मेरे मौला !

मुहम्मद को तू ने जो क़ुरआँ दिया है
करोड़ों दिलों में मुकम्मल छुपा है
ऐ क़ुरआँ के मालिक ! गुज़ारिश है तुझ से
मेरे दिल में क़ुरआँ बसा, मेरे मौला !

मेरी मुश्किलें गर तेरा इम्तिहाँ है
तो हर ग़म क़सम से ख़ुशी का समाँ है
गुनाहों की मेरे अगर ये सज़ा है
तो फिर मुश्किलों को घटा, मेरे मौला !

यहाँ पल में बदले हुए लोग पाए
यहाँ पल में अपने भी देखे पराए
तुझे तो हमारे दिलों की ख़बर है
करें तुझ से किस का गिला, मेरे मौला !

निगाहों से पिन्हाँ क्यूँ मंज़िल मेरी है
क्यूँ मँझधार में नाव मेरी फँसी है
ख़ताओं का मारा भी पा लेगा साहिल
गर 'आबिद के दिल में समा, मेरे मौला !


शायर:
पीरज़ादा आबिद अली शाह

ना'त-ख़्वाँ:
सय्यिद फ़सीहुद्दीन सोहरवर्दी
क़ारी रिज़वान ख़ान





mujhe bhi madine bula, mere maula !
karam ki tajalli dikha, mere maula !
bahut be-qaraari ke 'aalam me.n hu.n mai.n
meri be-qaraari miTa, mere maula !

yaqee.n hai madina karam hi karam hai
tu rakhta jahaa.n me.n sabhi ka bharam hai
tujhe waasita tere pyaare nabi ka
meri ab to big.Di bana, mere maula !

ye dono.n jahaa.n tere zer-e-asar hai.n
jo tujh ko na maane.n ba.De be-KHabar hai.n
nahi.n jaante jo bhi tere Gazab ko
unhe.n Gaflato.n se jaga, mere maula !

jise tu ne chaaha mai.n us pe fida hu.n
mai.n tere muhammad ke dar ka gada hu.n
tujhe waasita karbala ki zamee.n ka
mujhe har bala se bacha, mere maula !

shafaa'at ka waa'da kiya tu ne jis se
gunaahgaar umeed rakhte hai.n us se
sifaarish kare.n tujh se ummat ki aaqa
tu karna sabhi ka bhala, mere maula !

muhammad ko tu ne jo qur.aa.n diya hai
karo.Do.n dilo.n me.n mukammal chhupa hai
ai qur.aa.n ke maalik ! guzaarish hai tujh se
mere dil me.n qur.aa.n basa, mere maula !

meri mushkile.n gar tera imtihaa.n hai
to har Gam qasam se KHushi ka samaa.n hai
gunaaho.n ki mere agar ye saza hai
to phir mushkilo.n ko ghaTa, mere maula !

yahaa.n pal me.n badle hue log paae
yahaa.n pal me.n apne bhi dekhe paraae
tujhe to hamaare dilo.n ki KHabar hai
kare.n tujh se kis ka gila, mere maula !

nigaaho.n se pinhaa.n kyu.n manzil meri hai
kyu.n manjhdhaar me.n naaw meri phansi hai
KHataao.n ka maara bhi paa lega saahil
gar 'Aabid ke dil me.n sama, mere maula !


Poet:
Pirzada Abid Ali Shah

Naat-Khwaan:
Syed Fasihuddin Soharwardi
Qari Rizwan Khan
Mujhe Bhi Madine Bula Mere Maula Lyrics | Mujhe Bhi Madine Bula Mere Maula Lyrics in Hindi | Mujhe Bhi Madine Bula Mere Maula Lyrics in English |moula mola mawla muje muze lyrics of naat | naat lyrics in hindi | islamic lyrics | hindi me naat lyrics | hindi me naat likhi hui | All Naat Lyrics in Hindi | नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई | नात शरीफ की किताब हिंदी में | आला हजरत की नात शरीफ lyrics | हिंदी नात | Lyrics in English | Lyrics in Roman 50+ Naat Lyrics | Best Place To Find All Naat Sharif | 500+ Naat Lyrics | Best Site To Find All Naat in Hindi, English | 430 Naat lyrics ideas in 2023

Comments

Most Popular

क्या बताऊँ कि क्या मदीना है / Kya Bataun Ki Kya Madina Hai

वो शहर-ए-मोहब्बत जहाँ मुस्तफ़ा हैं / Wo Shehr-e-Mohabbat Jahan Mustafa Hain (All Versions)

ऐ ज़हरा के बाबा सुनें इल्तिजा मदीना बुला लीजिए / Aye Zahra Ke Baba Sunen Iltija Madina Bula Lijiye

बेख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Bekhud Kiye Dete Hain Andaz-e-Hijabana

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

कोई दुनिया-ए-अता में नहीं हमता तेरा | तज़मीन - वाह ! क्या जूद-ओ-करम है, शह-ए-बतहा ! तेरा / Koi Duniya-e-Ata Mein Nahin Hamta Tera | Tazmeen of Waah ! Kya Jood-o-Karam Hai, Shah-e-Bat.ha ! Tera

ज़िंदगी ये नहीं है किसी के लिए | वल्लाह वल्लाह / Zindagi Ye Nahin Hai Kisi Ke Liye | Wallah Wallah

जहाँ-बानी अता कर दें भरी जन्नत हिबा कर दें | मुनव्वर मेरी आँखों को मेरे शम्सुद्दुहा कर दें / Jahan-bani Ata Kar Den Bhari Jannat Hiba Kar Den | Muanawwar Meri Aankhon Ko Mere Shamsudduha Kar Den