अपने क़दमों में बुला ख़्वाजा पिया ख़्वाजा पिया / Apne Qadmon Mein Bula Khwaja Piya Khwaja Piya

अपने क़दमों में बुला, ख़्वाजा पिया ! ख़्वाजा पिया !
और जल्वा भी दिखा, ख़्वाजा पिया ! ख़्वाजा पिया !

आह ! कितनी देर से मैं दूर हूँ अजमेर से
जाने मैं कब आऊँगा, ख़्वाजा पिया ! ख़्वाजा पिया !

दिल से दुनिया की मोहब्बत की मुसीबत दूर हो
दे दो 'इश्क़-ए-मुस्तफ़ा, ख़्वाजा पिया ! ख़्वाजा पिया !

तेरी उल्फ़त में जियूँ, तेरी मोहब्बत में मरूँ
हो करम ऐसा, शहा ख़्वाजा पिया ! ख़्वाजा पिया !

या मु'ईनद्दीन अजमेरी ! करम की भीक दो
अज़ पए ग़ौस-ओ-रज़ा, ख़्वाजा पिया ! ख़्वाजा पिया !

आफ़तों की आँधियाँ कर दूर, दे अम्न-ओ-अमाँ
बहर-ए-ख़ाक-ए-कर्बला, ख़्वाजा पिया ! ख़्वाजा पिया !

शब्बर-ओ-शब्बीर का सदक़ा, बलाएँ दूर हों
ऐ मेरे मुश्किल-कुशा ! ख़्वाजा पिया ! ख़्वाजा पिया !

झोलियाँ भरते हो मँगतों की, मुझे भी हो 'अता
हिस्सा-ए-जूद-ओ-सख़ा, ख़्वाजा पिया ! ख़्वाजा पिया !

ख़ातिमा बिल-ख़ैर हो मीठे मदीने में मेरा
हाथ उठा कर कर दु'आ, ख़्वाजा पिया ! ख़्वाजा पिया !

एक ज़र्रा हो 'अता, 'अत्तार के हो जाएगा
ख़्वाजा ! घर भर का भला, ख़्वाजा पिया ! ख़्वाजा पिया !


शायर:
मुहम्मद इल्यास अत्तार क़ादरी

ना'त-ख़्वाँ:
मुहम्मद अश्फ़ाक़ अत्तारी





apne qadmo.n me.n bula, KHwaja piya ! KHwaja piya !
aur jalwa bhi dikha, KHwaja piya ! KHwaja piya !

aah ! kitni der se mai.n door hu.n ajmer se
jaane mai.n kab aaunga, KHwaja piya ! KHwaja piya !

dil se duniya ki mohabbat ki museebat door ho
de do 'ishq-e-mustafa, KHwaja piya ! KHwaja piya !

teri ulfat me.n jiyu.n, teri mohabbat me.n maru.n
ho karam aisa, shaha KHwaja piya ! KHwaja piya !

ya mu'eenaddeen ajmeri ! karam ki bheek do
az pae Gaus-o-raza, KHwaja piya ! KHwaja piya !

aafato.n ki aandhiya.n kar door, de amn-o-amaa.n
bahr-e-KHaak-e-karbala, KHwaja piya ! KHwaja piya !

shabbar-o-shabbir ka sadqa, balaae.n door ho.n
ai mere mushkil-kusha ! KHwaja piya ! KHwaja piya !

jholiya.n bharte ho mangto.n ki, mujhe bhi ho 'ata
hissa-e-jood-o-saKHa, KHwaja piya ! KHwaja piya !

KHaatima bil-KHair ho meethe madine me.n mera
haath uTha kar kar du'aa, KHwaja piya ! KHwaja piya !

ek zarra ho 'ata, 'Attar ke ho jaaega
KHwaja ! ghar bhar ka bhala, KHwaja piya ! KHwaja piya !


Poet:
Muhammad Ilyas Attar Qadri

Naat-Khwaan:
Muhammad Ashfaq Attari
Apne Qadmo Me Bula Khwaja Piya Lyrics | Apne Qadmo Me Bula Khwaja Piya Lyrics in Hindi | Apne Qadmon Mein Bula Khwaja Piya Lyrics | Qadmo Me Bula Khawaja kadmo kadmon main mein mai khuwaja | Manqabat e Khwaja Muinuddin Chishti | Gareeb e Nawaz Manqabat lyrics of naat, naat lyrics in hindi, islamic lyrics, hindi me naat lyrics, hindi me naat likhi hui, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई, नात शरीफ की किताब हिंदी में, आला हजरत की नात शरीफ lyrics, हिंदी नात, Lyrics in English, Lyrics in Roman

Comments

Most Popular

हम ने आँखों से देखा नहीं है मगर उन की तस्वीर सीने में मौजूद है | उन का जल्वा तो सीने में मौजूद है / Hum Ne Aankhon Se Dekha Nahin Hai Magar Unki Tasweer Seene Mein Maujood Hai | Un Ka Jalwa To Seene Mein Maujood Hai

मुस्तफ़ा, जान-ए-रहमत पे लाखों सलाम (मुख़्तसर) / Mustafa, Jaan-e-Rahmat Pe Laakhon Salaam (Short)

मैं बंदा-ए-'आसी हूँ, ख़ता-कार हूँ, मौला ! / Main Banda-e-Aasi Hoon, Khata-Kaar Hoon, Maula !

तेरा नाम ख़्वाजा मुईनुद्दीन | तू रसूल-ए-पाक की आल है / Tera Naam Khwaja Moinuddin | Tu Rasool-e-Pak Ki Aal Hai

बे-ख़ुद किए देते हैं अंदाज़-ए-हिजाबाना / Be-Khud Kiye Dete Hain Andaaz-e-Hijabana

उन का मँगता हूँ जो मँगता नहीं होने देते / Un Ka Mangta Hun Jo Mangta Nahin Hone Dete

अल-मदद पीरान-ए-पीर ग़ौस-उल-आज़म दस्तगीर / Al-Madad Peeran-e-Peer Ghaus-ul-Azam Dastageer

हाल-ए-दिल किस को सुनाएँ, आप के होते हुए / Haal-e-Dil Kis Ko Sunaaen Aap Ke Hote Hue

मौला अली मौला ! मौला अली मौला ! / Maula Ali Maula ! Maula Ali Maula !

छूटे न कभी तेरा दामन या ख़्वाजा मुईनुद्दीन हसन / Chhoote Na Kabhi Tera Daman Ya Khwaja Muinuddin Hasan