मुझे हज पे बुला मौला मुझे काबा दिखा मौला / Mujhe Hajj Pe Bula Maula Mujhe Kaba Dikha Maula

का'बे पे पड़ी जब पहली नज़र
क्या चीज़ है दुनिया भूल गया
यूँ होश-ओ-ख़िरद मफ़लूज हुए
दिल ज़ौक़-ए-तमाशा भूल गया

पहुँचा जो हरम की चौखट तक
इक अब्र-ए-करम ने घेर लिया
बाक़ी न रहा फिर होश मुझे
क्या माँगा और क्या भूल गया

जिस वक़्त दु'आ को हाथ उठे
याद आ न सका जो सोचा था
इज़्हार-ए-'अक़ीदत की धुन में
इज़्हार-ए-तमन्ना भूल गया

मुझे हज पे बुला, मौला ! मुझे का'बा दिखा, मौला !
तू मालिक है मेरा, मौला ! मैं बंदा हूँ तेरा, मौला !

मुझे हज पे बुला, मौला ! मुझे का'बा दिखा, मौला !

था जिस दम हाथ में मेरे ग़िलाफ़-ए-ख़ाना-ए-का'बा
थे आँसू आँख से जारी, थी लब पे ये सदा, मौला !

मुझे हज पे बुला, मौला ! मुझे का'बा दिखा, मौला !

तवाफ़-ए-का'बातुल्लाह कर के फिर दो नफ़्ल अदा कर के
मक़ाम-ए-मुल्तज़म पर जा के माँगूँगा दु'आ, मौला !

मुझे हज पे बुला, मौला ! मुझे का'बा दिखा, मौला !

मक़ाम-ए-इब्राहिम आएगा तो सर को झुका कर मैं
नवाफ़िल पढ़ के उस जा पर करूँगा शुक्र अदा, मौला !

मुझे हज पे बुला, मौला ! मुझे का'बा दिखा, मौला !

सफ़ा-मरवा पे जब मेरे लबों पर होंगी तकबीरें
मेरे सर पर तेरी रहमत की बरसेगी घटा, मौला !

मुझे हज पे बुला, मौला ! मुझे का'बा दिखा, मौला !

वो नौ ज़िलहज की होगी शाम जब जाऊँगा मुज़्दलिफ़ा
जहाँ हाजी अदा करते हैं मग़रिब और 'इशा, मौला !

मुझे हज पे बुला, मौला ! मुझे का'बा दिखा, मौला !

ये फ़ारूक़ी का मस्लक है, 'अक़ीदत है, 'अक़ीदा है
मदीने जा के बख़्शी जाएगी हर इक ख़ता, मौला !

मुझे हज पे बुला, मौला ! मुझे का'बा दिखा, मौला !


शायर:
सुहैल कलीम फ़ारूक़ी

ना'त-ख़्वाँ:
हाफ़िज़ अहमद रज़ा क़ादरी





kaa'be pe pa.Di jab pehli nazar
kya cheez hai duniya bhool gaya
yu.n hosh-o-KHirad maflooj hue
dil zauq-e-tamaasha bhool gaya

pahuncha jo haram ki chaukhaT tak
ik abr-e-karam ne gher liya
baaqi na raha phir hosh mujhe
kya maanga aur kya bhool gaya

jis waqt du'aa ko haath uThe
yaad aa na saka jo socha tha
iz.haar-e-'aqeedat ki dhun me.n
iz.haar-e-tamanna bhool gaya

mujhe hajj pe bula, maula ! mujhe kaa'ba dikha, maula !
tu maalik hai mera, maula ! mai.n banda hu.n tera, maula !

mujhe hajj pe bula, maula ! mujhe kaa'ba dikha, maula !

tha jis dam haath me.n mere Gilaaf-e-KHaana-e-kaa'ba
the aansu aankh se jaari, thi lab pe ye sada, maula !

mujhe hajj pe bula, maula ! mujhe kaa'ba dikha, maula !

tawaaf-e-kaa'batullah kar ke phir do nafl ada kar ke
maqaam-e-multazam par jaa ke maangunga du'aa, maula !

mujhe hajj pe bula, maula ! mujhe kaa'ba dikha, maula !

maqaam-e-ibraahim aaega to sar ko jhuka kar mai.n
nawaafil pa.Dh ke us jaa par karunga shukr ada, maula !

mujhe hajj pe bula, maula ! mujhe kaa'ba dikha, maula !

safa-marwa pe jab mere labo.n par hongi takbeere.n
mere sar par teri rahmat ki barsegi ghaTa, maula !

mujhe hajj pe bula, maula ! mujhe kaa'ba dikha, maula !

wo nau zilhajj ki hogi shaam jab jaaunga muzdalifa
jahaa.n haaji ada karte hai.n maGrib aur 'isha, maula !

mujhe hajj pe bula, maula ! mujhe kaa'ba dikha, maula !

ye Faarooqi ka maslak hai, 'aqeedat hai, 'aqeeda hai
madine jaa ke baKHshi jaaegi har ik KHata, maula !

mujhe hajj pe bula, maula ! mujhe kaa'ba dikha, maula !


Poet:
Sohail Kaleem Farooqi

Naat-Khwaan:
Hafiz Ahmed Raza Qadri
Mujhe Hajj Pe Bula Maula Lyrics | Mujhe Hajj Pe Bula Maula Lyrics in Hindi | Mujhe Hajj Pe Bula Maula Mujhe Kaba Dikha Maula Lyrics | Hajj Kalam Lyrics | muje haj par moula mawla kaaba ka'ba lyrics of naat | naat lyrics in hindi | islamic lyrics | hindi me naat lyrics | hindi me naat likhi hui | All Naat Lyrics in Hindi | नात शरीफ लिरिक्स हिंदी, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात शरीफ लिरिक्स हिंदी में, नात हिंदी में लिखी हुई | नात शरीफ की किताब हिंदी में | आला हजरत की नात शरीफ lyrics | हिंदी नात | Lyrics in English | Lyrics in Roman 50+ Naat Lyrics | Best Place To Find All Naat Sharif | 500+ Naat Lyrics | Best Site To Find All Naat in Hindi, English | 430 Naat lyrics ideas in 2024

Comments

Most Popular

मेरे हुसैन तुझे सलाम / Mere Husain Tujhe Salaam

वो शहर-ए-मोहब्बत जहाँ मुस्तफ़ा हैं / Wo Shehr-e-Mohabbat Jahan Mustafa Hain (All Versions)

क्या बताऊँ कि क्या मदीना है / Kya Bataun Ki Kya Madina Hai

मेरा बादशाह हुसैन है | ऐसा बादशाह हुसैन है / Mera Baadshaah Husain Hai | Aisa Baadshaah Husain Hai

ऐ ज़हरा के बाबा सुनें इल्तिजा मदीना बुला लीजिए / Aye Zahra Ke Baba Sunen Iltija Madina Bula Lijiye

अल्लाह की रज़ा है मोहब्बत हुसैन की | या हुसैन इब्न-ए-अली / Allah Ki Raza Hai Mohabbat Hussain Ki | Ya Hussain Ibne Ali

कर्बला के जाँ-निसारों को सलाम / Karbala Ke Jaan-nisaron Ko Salam

हुसैन तुम को ज़माना सलाम कहता है / Husain Tum Ko Zamana Salam Kehta Hai

हम हुसैन वाले हैं / Hum Hussain Wale Hain

हुसैन आज सर को कटाने चले हैं / Husain Aaj Sar Ko Katane Chale Hain